14 बच्चों और 49 नाते-पोतियों वाले इस 66 साल के बुजुर्ग ने 55 साल की आमना से किया शादी

नागौर जिले के मेड़ता सिटी में एक रोचक शादी का मामला देखने को मिला है। यहां पर दूल्हे 66 साल के मुख्त्यार स्यां भाटी थे तो दुल्हन 55 साल की आमना खातून। इन नए-नवेले जोड़े को मुख्त्यारस्यां की 95 साल की मां जैतून बाई ने आशीर्वाद दिया।
मुख्त्यार भाटी के 14 बच्चे और 49 नाते-पोतियां हैं, जबकि मूलत: जयपुर और फिलहाल अजमेर निवासी आमना का एक बेटा है। दो दिन पहले ईद पर हुए इस निकाह के बाद से मुख्त्यारस्यां के घर में खुशी का माहौल है तो पूरे क्षेत्र में यह चर्चा का विषय भी बना हुआ है।

मुख्त्यार की 14 संतानों में से 7 बेटे और 7 बेटियां हैं

मिली जानकारी के अनुसार मेड़ता शहर के कुंडल सरोवर की पाल पर स्थित साइयों का मोहल्ला निवासी मुख्त्यारस्यां भाटी की पत्नी भूरी बानो का 8 साल पहले ही निधन हो गया। अजमेर निवासी आमना खातून के पति का भी कई साल पहले देहांत हो चुका है। मुख्त्यार की 14 संतानों में 7 बेटे और 7 बेटियां भी हैं। निकाह में मुख्त्यारस्यां की मां सहित बेटे-बेटी, पोते-पोतियों और दोहिते-दोहितियों के अलावा राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि और समाजसेवी भी शरीक हुए। मुख्त्यारस्यां भवन निर्माण का काम करते हैं। वे भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा मेड़ता शहर मंडल के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं।

अजमेर दरगाह में हुई थी पहली मुलाकात

अपनी पहली पत्नी की मौत के बाद मुख्त्यारस्यां गमजदा ही रहते थे। वे दूसरे हमसफर की तलाश में जुटे हुए थे। बीते दिनों रमजान शुरू हुआ तो उन्होंने अजमेर में दरगाह शरीफ में रहकर रोजे रखने का मानस बनाया। वे रोजों के दौरान दरगाह शरीफ में रहे तो उनकी मुलाकात अजमेर निवासी आमना खातून से हुई। यहीं पर से दोनों ने जीवनसाथी बनने का फैसला किया। निकाह के दौरान ही मेड़ता शहर से वृद्ध मुखत्यार स्यां की बारात निकली और अजमेर में निकाह हुआ।