2016 में भाजपा ने छात्राओं को दी थी भगवा कलर की साइकिल, अब कांग्रेस सरकार बदलेगी रंग..!

राजस्थान में सत्ता बदलाव के साथ ही पाठ्यक्रम से शुरू हुआ परिवर्तन का दौर अब साइकिलों के रंग पर पहुंच चुका है. पिछली कांग्रेस सरकार के दौरान साल 2013 में 9वीं कक्षा में जाने वाली बालिकाओं मुफ्त साइकिल देने की योजना शुरू की गई थी, इस योजना को भाजपा सरकार ने भी जारी रखा था. लेकिन वर्ष 2016-17 के सत्र से भाजपा सरकार ने इन काली साइकिलों का रंग बदलकर भगवा कर दिया था. जिसे त्याग और बलिदान के रूप में पेश किया गया था, लेकिन कांग्रेस की सरकार के फिर से सत्ता में आने के साथ ही अब साइकिलों का रंग काला होने के संकेत दे दिए हैं. जिसके बाद सियासी गलियारों में फिर से आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो गया है.

2013 के विधानसभा चुनाव से पूर्व कांग्रेस ने स्कूल में पढ़ने वाली बालिकाओं के लिए साइकिल बांटने की योजना शुरू की थी और पूर्व ही साल 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली तकरीबन 3 लाख छात्राओं को मुफ्त साइकिलों का वितरण किया गया. 2013 में भाजपा सरकार ने सत्ता में आने के बाद भी इस योजना को छात्राओं के हित में आगे बढ़ाने का निर्णय लिया. भाजपा सरकार ने वर्ष 2014-15 और वर्ष 2015-16 के सत्र में काले रंग की साइकिलें बांटी गईं.
लेकिन, वर्ष 2016-17 के सत्र में भाजपा सरकार की ओर से इन साइकिलों का रंग बदलने का निर्णय लिया गया, जो सत्र 2016-17, सत्र 2017-18 और सत्र 2018-19 में तीन वर्ष तक जारी रहा. इसमें तकरीबन 9 लाख से ज्यादा केसरिया साइकिलों का वितरण किया गया था. वर्ष 2018 में सत्ता में आने के साथ ही कांग्रेस ने इन साइकिलों का रंग बदलने की कवायद में लग गई हैं. जिसको अब इस सत्र से मूर्त रूप दिए जाने की रणनीति तैयार कर ली गई है.