पालतू तोते को लग गई मोबाइल चलाने की लत, उसकी रट से घरवालों को परेशान होकर दिखाना पड़ता है वीडियो..!

आज की इस जिंदगी में मोबाइल फोन हर आदमी के लिए सबसे अहम जरूरत बन गया है। बिजनेस से लेकर दुकानदारी और हर काम मोबाइल के द्वारा किया जा रहा है। छोटे-छोटे बच्चों में मोबाइल के प्रति बढ़ते रुझान को हमने आसपास खूब देखा होगा, लेकिन क्या आपने कभी एक तोते का मोबाइल से बच्चों की तरह लगाव देखा है।
जी हां, हम बात कर रहे हैं कोको नाम के एक तोते की, जो की मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में बेगमगंज नगर के एसबीआई कालोनी निवासी शरद शर्मा के बेटे ऋषि शर्मा ने इस तोते को पाला है। स्मार्ट मोबाइल फोन इस तोते की जिंदगी बन गया है। आलम ये कि घर का कोई भी सदस्य इस तोते के आने मोबाइल नहीं चला सकता। क्योंकि जैसे ही इस तोते के सामने मोबाइल चालू होता है। यह स्वयं ही मोबाइल स्क्रीन के सामने बैठ कर उसके वीडियो आदि फीचर बड़े लगाव से देखने लगता है।

तोता हो चुका है मोबाइल का दीवाना

21वीं सदी के मासूम बच्चों में अपने मोबाइल का क्रेज तो अपने खूब देखा होगा, लेकिन क्या आपने सोचा है कि एक तोता भी मोबाईल फोन का इतना ज्यादा दीवाना हो सकता है। जी हां, सोच में पड़ गए ना लेकिन जनाब ऐसा भी होता है। रायसेन जिले के बेगमगंज के नन्हें ऋषि शर्मा द्वारा पाले गए इस पोते को मोबाइल से इतना प्रेम है कि वह इसके बिना बिल्कुल भी नहीं रह पाता है और इस पोते को हर आधे घंटे में मोबाइल देखने की आदत पड़ गई है।

मोबाइल ना दो तो जोर-जोर से चिल्लाता है

अगर इस तोते को मोबाइल नहीं दो तो यह दिन भर चिल्लाता रहता है। घर में खुले रूप से इधर-उधर घूमता रहता है और घर में ही पले हुए जर्मन शेफर्ड नामके कुत्ते से भी इसकी गहरी दोस्ती है। दोनों साथ मिलकर दिनभर मस्ती करते हैं, मगर इस तोते को सबसे ज्यादा प्रेम मोबाइल से है। यह तोता मोबाइल देखते हुए बहुत चिल्लाता है और ऐसा लगता है जैसे बहुत खुश हो रहा है वहीं अगर इस तोते को मोबाइल नहीं दिया जाए तो यह तोता जोर जोर से चिल्लाता रहता है जब तक कि उसे मोबाइल ना मिल जाए।

तोते से दूर रखने लग गए मोबाइल

परिवार के सदस्य इस तोते को मोबाइल पर कुछ वीडियो दिखाते रहते हैं। अन्यथा दिन में कोई काम भी नहीं कर सकते हैं, वहीं इस तोते की खासियत ये है कि अगर आप एक हाथ में मोबाइल ले और दूसरे हाथ पर तोते को बिठा ले तो यह उड़ता हुआ मोबाइल के ऊपर ही जाएगा और अगर आप इस कोको नामक तोते से मोबाइल अगर दूर खींचते जाते हैं तो यह उसका पीछा करता हुआ धीरे धीरे मोबाइल के पास आता है।