बेंगलुरु में शौचालय कमोड में निकला सांप, और फिर क्या हुआ होगा हाल!

बेंगलुरु के जेपी नगर फेज 7 निवासी प्रमोद के होश तब उड़ गए, जब उन्हें घर में बने शौचालय में वेस्टर्न कमोड के भीतर एक भयानक सांप दिखा। उन्होंने तुरंत वाइल्डलाइफ वॉलंटिअर राजेश कुमार को बुलाया जिन्हें सांप बाहर निकालने में आधा घंटा लगा। वहीं, बनासवाडी के एक गराज में ऐसा ही नजारा एक गाड़ी के बोनट में देखने को मिला। वाइल्डलाइफ वॉलंटिअर मोहन बेबी सांप को बचाने के बाद बनासवाडी स्थित गराज पहुंचे और वहां से भी एक सांप को बाहर निकाला।

गर्मी, कचरे के चलते अपने ठिकाने छोड़ रहे सांप

वाइल्डलाइफ वॉलंटिअर्स का कहना है कि बढ़ती गर्मी से बचने के लिए सांप अपने ठिकाने छोड़कर घरों में घुस रहे हैं। राजेश ने बताया, 'हमें प्रत्येक दिन कई कॉल आते हैं। पार्किंग में खड़ीं गाड़ियों, गैस सिलिंड के नीचे, जूते की रैक, शौचालय, जंक स्टोरेज स्पेस और आंगन में सांप बैठे रहते हैं।' उन्होंने बताया कि गर्मी के अतिरिक्त सांप ऐसी स्थनों की आकर्षित होते हैं जहां कचरा पड़ा हो। उन्हें ऐसी स्थनों पर अपने शिकार के लिए चूहे जैसे जानवरों के मिलने की संभावना नजर आती है।

खुद न करें सांप को निकालने की कोशिश

वाइल्डलाइफ वॉलंटिअर्स लोगों की चेतावनी देते हैं कि कभी सांप मिलने पर जल्दबाजी में उसे खुद ही निकालने की प्रयास नहीं करनी चाहिए। हमेशा एक्सपर्ट्स से सहायता लेनी चाहिए। एक वॉलंटिअर ने बताया, 'हर हफ्ते हमें कम से कम पांच ऐसे केस मिलते हैं जहां लोगों को सांप ने उस समय काट लिया जब वे उसे पकड़ने की प्रयास कर रहे थे। हमें सबसे अधिक फोन हेब्बल, येलाहंका, कनकपुरा और आरआरनगर से आते हैं।'