मन नही कर रहा था लेकिन फिर भी स्कूटी की डिक्की खोलकर देखा,

छत्तीसगढ़ के महासमुंद(Mahasamund) में वाहनों (Scooter) की तलाशीके दौरान एक और अपराध से पर्दा उठ गया। पुलिस दिनभर ट्रकों और दोपहियां वाहनों की तलाश कर थक गए थे। इस बीच स्कूटी (Honda Activa) की जांच करने के दौरान डिक्की (Honda Activa scooter) में से जो अवैध सामान नजर आया। देखकर पुलिस कर्मियों (Chhattisgarh Police) की आंखें खुली की खुली रह गई। पुलिस अब आरोपी (Chhattisgarh cirme) को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है।

ये है पूरा मामला
दरअसल बागबाहरा के पिथौरा चौक के पास वाहनों की तलाशी के दौरान पुलिस ने कोमाखान की तरफ से आ रही स्कूटी क्रमांक सीजी 07 जीडी 6323 को रोककर तलाशी ली। पुलिस ने उससे आवश्यक दस्तावेज मांगे, किन्तु वह गोलमोल जवाब देने लगा। युवक की ऐसी बातें सुनकर पुलिस वालों का दिमाग फिर गया और जबरदस्ती स्कूटी की डिक्की खोलकर तलाशी करना शुरू कर दिया। इसके बाद डिक्की में बड़ा-सा पैकेट देखकर पुलिस ने युवक से सवाल जवाब किया।

सही जवाब नहीं मिलने पर पुलिस ने पैकेट, 5 सौ रुपए 
नकदी और एक कीपैड मोबाइल को जब्त कर उसकेविरुद्ध कार्रवाई की। तलाशी के बाद पुलिस ने बताया कि सुपेला भिलाई के ओडियापार वार्ड क्रमांक 4 निवासी आरोपी आकाश बाघ 10 किलो गांजा लेकर जा रहा था। पूछताछ के दौरान युवक ने कहा कि ओडिशा से गांजा लेकर वह भिलाई की तरफ जा रहा था। ज्ञात हो कि जून महीने में पुलिस ने 3 क्विंटल 56 किलो गांजा बरामद किया है।

अब तक 12 लोगों की हो चुकी है गिरफ्तारी
तस्करी के आरोप में पुलिस ने 12 लोगों को पकड़ा। एक जून को सिंघोड़ा पुलिस ने खाली सब्जी कैरेट की आड़ में गांजा तस्करी करते हुए तीन लोगों के कब्जे से तीन क्विंटल गांजा पकड़ा था। पिथौरा पुलिस ने जाइलो कार से 25 किलो व बागबाहरा पुलिस ने तीन लोगों से 21 किलो गांजा जब्त की थी। गांजा की तस्करी लगातार जारी है।

गांजा तस्करों पर पुलिस की पैनी नजर

पूर्व में पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने ओडिशा पुलिस (Orisa Police) व छग पुलिस की संयुक्त टीम बनाकर गांजा (Ganja) बेचने वालों पर कार्रवाई (Police Action) करने की बात कही थी, किन्तु ओडिशा पुलिस का साथ नहीं मिलने के वजह छग पुलिस ओडिशा में कार्रवाई नहीं कर पा रही है। अलावा पुलिस अधीक्षक वेदव्रत सिरमौर ने बताया कि जिले के रास्ते गांजा तस्करी करने वाले आरोपियों पर पैनी नजर है।