आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हुए थे मेजर अक्षय, मरने से पूर्व बेटी से कहा-हमेशा जय हिंद बोलना

वर्ष 2016 में जम्मू कश्मीर के नगरोटा में आर्मी बेस कैंप पर आतंकियों ने हमला कर दिया। इस हमले में कुल 7 जवान शहीद हुए थे। जिसमें 2 सेना के जवान भी शामिल थे। तो वहीं हमारे सिपाहियों ने भी 3 आतंकियों को ढेर कर दिया था।
इस हमले में मेजर अक्षय गिरीश कुमार भी शहीद हो गए थे। मेजर अपने पीछे अपना पूरा परिवार छोड़ गए। अक्षय के परिवार में उनके माता-पिता, पत्नी संगीता और एक प्यारी सी बेटी नैना भी हैं। पिछली साल गिरीश की पत्नी संगीता ने सोशल मीडिया पर पति की याद में एक ऐसा मैसेज लिखा, जिसने पूरे देश को रोने के लिए मजबूर कर दिया था। संगीता ने बताया कि गिरीश ने साल 2009 में उन्हें प्रपोज़ किया था। 2011 में दोनों ने विवाह कर ली, जिसके 2 साल बाद संगीता ने नैना को जन्म दिया था।
संगीता ने बताया कि हमले के समय वे भी वहीं थी। संगीता ने आज भी गिरीश की वर्दी को संभाल कर रखा है। उन्होंने कहा कि जब भी उन्हें गिरीश की याद आती है, वो उनकी वर्दी पहन लेती हैं। संगीता ने बताया कि उन्होंने अभी तक गिरीश की वर्दी में नहीं धोई क्योंकि आज भी उनकी वर्दी से गिरीश की खुशबू आती है।
मेजर अक्षय गिरीश की बेटी का नाम नैना है। नैना अपनी मां को बता रही है कि उसके पापा ने उसे बताया कि इंडियन आर्मी ‘बैड अंकल्‍स को मारती है जो उनके देश में होते हैं।’ नैना ने बताया है कि उसके पापा ने उसे जय हिंद भी कहना सिखाया था। वीडियो का अंत नैना उसी अंदाज में जय हिंद कहकर करती है। मेजर अक्षय गिरीश सेना की 51 इंजीनियर रेजीमेंट के अधिकारी थे। हमले के वक्त उनकी पत्‍नी संगीता और उनकी बेटी नैना उनके ही साथ थी। मेजर गिरीश के देहांत के बाद से ही उनके परिवार के लिए उससे उबर पाना काफी मुश्किल होता जा रहा है।