बंगाल में नहीं थम रहा खूनी संघर्ष: TMC के 3 कार्यकर्ताओं का हुआ मौत, कांग्रेस पर लगा आरोप

पश्चिम बंगाल इस समय में राजनीतिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है. ताजा मामलें में मुर्शिदाबाद में तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई है. इसमें टीएमसी के तीन कार्यकर्ताओं की मौत हो गई है. स्थानीय सूत्र और पुलिस के मुताबिक शनिवार सुबह टीएमसी और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई थी.  इसमें टीएमसी कार्यकर्ता खैरुद्दीन शेख और सोहेल राणा  और एक अन्य कार्यकर्ता की मौत हो गई.
आपको बता दें की बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के डोमकल में शनिवार सुबह बम फेंका गया और गोलीबारी गई है. इसी हिंसा में तीन लोग मारे गए. जिला टीएमसी नेता अबू ताहेर ने बताया है कि मारे गए तीनों मृतक टीएमसी कार्यकर्ता के रिश्तेदार हैं. वहीं, मृतक परिवार के सदस्यों ने दावा किया कि इस हमले में बीजेपी और कांग्रेस शामिल है.

इस हिंसा में मारे गए एक व्यक्ति मिलन खैरुद्दीन शेख के बेटे ने कहा है की, '' हम सो रहे थे, अचानक हमारे घर पर बमबारी हुई. उन्होंने मेरे पिता को गोली मार दिया. कुछ दिन पहले मेरे चाचा को भी मार दिया गया था. इस हमले के पीछे कांग्रेस है." पुलिस इस मामले में जांच कर रही है और हत्यारों का पता लगाने की कोशिश कर रही है.

आपको ये भी बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं जब पश्चिम बंगाल में हिंसा की घटना हुई है. लगातार इस प्रदेश में राजनीतिक हिंसा का दौर जारी है. राज्य की सत्तारुढ़ पार्टी टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच भी  हिंसक झड़प आए दिन होती रहती है. लोकसभा चुनाव से ही बंगाल में राजनीतिक हिंसा की घटना सामने आ रही हैं.

साथ ही ये बताते चलें की राज्य में अब तक कई राजनीतिक कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है. अब तक यहां पर बीजेपी और तृणमूल के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प होती आई है, लेकिन अब कांग्रेस और तृणमूल के बीच भी ऐसी घटना सामने आने लगी हैं.