75 वर्ष के बुजुर्ग ने इस उम्र में किया गंदा काम, अब जेल में कटेगी पूरी जिंदगी

शहर से लगी देशी शराब दुकान के सामने दिनदहाड़े युवक राजेश वर्मा की हत्या करने वाले बिसौहा साहू को न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई।निर्णय न्यायाधीश आनंद कुमार सिंघल ने सुनाया। प्रकरण में शासन की तरफ  से पैरवी अपर लोक अभियोजक ने की।

पिकरी शराब भट्ठी के पास की थी हत्या
प्रकरण के अनुसार 3 अक्टूबर 2018 को बेमेतरा-मुड़पार मार्ग पर पिकरी शराब भट्ठी के पास राजेश वर्मा पिता बहुर सिंह वर्मा (34) पर बिसौहाराम वर्मा पिता बनऊराम वर्मा ने तब्बल से वार कर हत्या कर दी थी। इसके बाद आरोपी लापता हो गया था। जिसे एक दिन बाद 4 अक्टूबर को सुबह पकड़ा गया था। आरोपी की निशानदेही पर वारदात स्थल से तकरीबन 200 मीटर दूर पर तब्बल बरामद किया गया था।

आरोपी ने किया था अवैध कब्जा

सुनवाई के दौरान हत्या का वजह समाने आया है, जिसके मुताबिक  राजेश वर्मा की मां चंपाबाई भोईनाभाठा की उपसरपंच थी। आरोपी ग्राम मुड़पार का निवासी है। जहां का राजेश भी निवासी था। आरोपी बिसौहा वर्मा ने गांव के मर्दनिया श्रीवास की देहांत होने के बाद उसकी जमीन को घेरकर कब्जा कर लिया था। जसे लेकर विवाद था। आरोपी ने राजेश से कहा था कि तुम्हारे परिवार के लोग मेरी जमीन पर कब्जा कर रहे हैं। जिसके बाद आरोपी ने मौके पर साइकिल में रखे तब्बल से हमला कर हत्या कर दी। इसके बाद कोटवार बृजलाल वर्मा को भी तब्बल लेकर दौड़ाया था।

आरोप सिद्ध होने पर मिली उम्रकैद

आज न्यायालय ने आरेापी बिसौहा वर्मा (75) पर आरोप साबित होने पर धारा 302 के मुताबिक आजीवन कारावास और 100 का अर्थदंड सुनाया। अर्थदंड नहीं देने की स्थिति में आरोपी को तीन माह का आलाव कारावास भुगतना होगा।

60 हजार का क्षतिपूर्ति देने का आदेश 

न्यायालय ने प्रावधानों के मुताबिक मृतक के परिजन को सही प्रतिकर राशि देने की अनुशंसा की। जिसके मुताबिक मृतक के परिवार को 60 हजार रुपए देने का आदेश दिया।