'हमारी आंखों में मिर्च डाली, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा'- पुलिस, 'दो पुलिसक​र्मियों ने आरोपी की बहन से किया दुर्व्यवहार'- ग्रामीण

मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के छापीहेड़ा थाने के पुलिसकर्मियों को ग्रामीणों ने सोमवार को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा दिया। आंखों में मिर्च पाउडर डालकर और वर्दी तक फाड़ दिया। छह पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं। वहीं, ग्रामीणों की ओर से पुलिसकर्मियों के खिलाफ दो महिलाओं से दुष्कर्म किए जाने का आरोप भी लगाया गया है। पुलिस के अनुसार राजगढ़ जिले की छापीहेड़ा पुलिस को सूचना मिली थी कि एक टेम्पो ट्रेक्स में अवैध रूप से शराब लेकर जा रही है। छापीहेड़ा पुलिस का एक दल और डायल 100 उस वाहन का पीछा करने लगी। तब उस वाहन ने टक्कर मारकर एक पुलिस कर्मी को घायल कर दिया।
छापीहेड़ा पुलिस वाहन का पीछा करते हुए खिलचीपुर थाने के गांव में घुस गई। जहां गांव में ग्रामीणों ने पुलिस दल को घेरकर उनकी आंखों में मिर्ची पाउडर फेंक दिया और पुलिसकर्मियों की वर्दी फाड़कर उनकी जमकर पिटाई की। वहीं पिटाई के बाद कुछ पुलिसकर्मीय जान बचा कर भाग निकले जबकि ग्रामीणों ने 2 पुलिस कर्मियों को बंधक बनाकर लिया। पुलिसकर्मियों का आरोप ये है कि बंधक बना कर उन्हें जबरन शराब पिलाई गई, जबकि वे कभी शराब नही पीते हैं।

आरोपी की बहन के साथ किया रेप

वहीं, इस मामले में ग्रामीणों का आरोप ये है कि छापीहेड़ा पुलिस गांव में एक आरोपी को ढूंढने उसके घर पहुंची। घर में उसकी बहन अकेली थी। बहन को देखकर पुलिसवालों ने उसको थाने चलने को कहा। थाने का कहकर पुलिस वाले उसको पुलिस वाहन में ले गए और दूर सोनखेड़ा गांव के समीप ले जाकर सुनसान स्थान पर दो पुलिसकर्मियों ने पीड़ित महिला के उसके साथ बलात्कार किया।

जांच में दोषी के खिलाफ किया जाएगा कार्रवाई

इस मामले में राजगढ़ एसपी प्रदीप शर्मा का कहना है कि मामले में पुलिसकर्मियों और पीड़ित महिला के बयान लिए जा रहे हैं। उनके बयानों के आधार पर ही मामले की जांच भी की जाएगी। जो भी दोषी हो उसके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।