नवविवाहिता के साथ ससुरालियों ने कर दी जुल्म की इंतहा, ऐसी शरारत की..!

विवाह में 40 लाख रुपये खर्च करने के बाद भी दहेज के लोभियों का दिल नहीं भरा। विवाह के बाद फॉर्च्यूनर कार की मांग करते हुए विवाहिता से मारपीट प्रारम्भ कर दी। इतना ही नहीं बीते दिनों पति अपनी पत्नी को घर में बंधक बनाकर परिवार के साथ रिश्तेदारों के घर चला गया। विवाहिता के मायके वालों ने पुलिस की सहायता से पीड़िता को घर से बाहर निकलवाया और अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने पीड़िता के बयान पर पति सहित ससुराल परिवार के नौ सदस्यों के विरुद्ध केस दर्ज कर उनकी खोज प्रारम्भ कर दी है।
अमृतसर निवासी बलविंदर सिंह ने बताया कि उसने अपनी बेटी कोमलप्रीत कौर का विवाह 19 जुलाई 2018 को मोहल्ला गुरु का खूह स्थित गली ढोटियां वाली निवासी इंद्रजीत सिंह से किया। इंद्रजीत सिंह सेनेटरी का काम करता है। उन्होंने विवाह पर करीब 40 लाख खर्च किए। इसके बावजूद विवाह के कुछ दिन बाद ही बेटी को और दहेज लाने के लिए परेशान किया जाने लगा।
दिसंबर में कोमलप्रीत दो माह की गर्भवती थी। लेकिन ससुराल वालों ने कथित तौर पर उसका गर्भ गिरा दिया। इसके बाद लगातार फॉर्च्यूनर कार की मांग करने लगे। उन्होंने फिर भी यह कहते हुए स्विफ्ट कार दे दी कि उन्होंने अपनी छोटी लड़की व लड़के का भी विवाह करना है। इसके बावजूद इंद्रजीत सिंह ने अपने परिवार के साथ मिलकर कोमलप्रीत को मारना-पीटना प्रारम्भ कर दिया। 

इतना ही नहीं एक जून को इंद्रजीत उसे घर में बंद कर खुद परिवार के साथ रिश्तेदारों के घर चला गया। कोमलप्रीत के पास कोई फोन भी नहीं था। पूरी रात वह घर में बंधक बनकर रही। अगले दिन वह किसी तरह घर का मुख्य दरवाजा तोड़कर बाहर आई तो मेन गेट पर भी ताला लगा था। शोर मचाने पर आए पड़ोसियों ने उन्हें इसकी जानकारी दी।
उधर थाना सिटी प्रभारी इंस्पेक्टर चंद्र भूषण ने बताया है कि पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने उसके पति इंद्रजीत सिंह, सास गीता राणी, ससुर अमरजीत सिंह, ननद मुस्कान के अलावा अन्य रिश्तेदार हङ्क्षरदर सिंह, स्वीटी निवासी कत्थूनंगल, प्रताप सिंह, उसके बेटे रूबल, शेरू निवासी सुल्तानविंड रोड अमृतसर के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया है।