दक्षिण कोरिया का दावा, ट्रंप की सफर के दौरान DMZ में दिखाई दी 'संदिग्ध वस्तु'

दक्षिण कोरिया की सेना का कहना है कि उसने उत्तर कोरिया से जुड़ी सीमा के पास उड़ने वाली "अज्ञात वस्तु" का पता लगाया है। साउथ कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ का कहना है कि उसके रडार ने सोमवार को डिमिलिट्राइजड जोन (DMZ) में "अज्ञात वस्तु" ( Unidentified object) द्वारा उड़ान के प्रमाण पाए हैं।
इस बारे में इससे ज्यादा कोई और जानकारी नहीं दी है। बता दें कि यह वस्तु उसी क्षेत्र में दिखाई दी है जहां पर उत्तर कोरिया के तानाशाह और अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात हुई थी।

DMZ दुनिया की सबसे सुरक्षित जगह
DMZ दुनिया की सबसे भारी किलेबंद सीमा है। उत्तर कोरिया द्वारा अपने परमाणु कार्यक्रम पर बातचीत करने से पहले दोनों कोरियाई देशों ने कभी भी इस क्षेत्र में हथियार का प्रयोग नहीं किया। दक्षिण कोरिया को शक है कि यह काम उत्तर कोरिया कर सकता है। गौरतलब है कि रविवार को अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग असैन्य क्षेत्र में मिले थे। बता दें की वार्ता के बाद उत्तर कोरिया और अमरीका परमाणु कार्यक्रम पर फिर से बातचीत को सहमत हो गए हैं।

परमाणु वार्ता पर दोनों देश सहमत
दक्षिण कोरिया का कहना है कि उसे उम्मीद है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के बीच नवीनतम बैठक से राजनयिक गति में मदद मिलेगी। वाशिंगटन और प्योंगयांग के बीच परमाणु वार्ता में एक कठिन गतिरोध के बीच यह बैठक हुई थी।
दक्षिण कोरिया के यूनिफिकेशन मिनिस्ट्री के प्रवक्ता ली संग-मिन ने कहा कि ट्रम्प-किम की बैठक परमाणु वार्ता में नई जान फूंक सकती है और उत्तर के साथ बातचीत और सहयोग के लिए सियोल के प्रयासों को जीवित रखने में  सहायता कर सकती है। उत्तर कोरिया के राज्य के मीडिया ने रविवार को ट्रम्प के साथ डिमिलिट्राइजड जोन DMZ में सीमावर्ती गाँव में "एक आश्चर्यजनक घटना" के रूप में वर्णित किया है, यह नोट कोरियाई प्रायद्वीप के विभाजन का प्रतीक है।