बेटे के लिए देखने गया था लड़की, बहू को पंसद आ गया 10 बच्चों का बाप, और फिर जानिए क्या हुआ

अम्बेडकर नगर में मुस्लिम समाज की महिलाओं को तीन तलाक की कुप्रथा से तो सरकार ने कानून बनाकर छुटकारा दिला दिया, लेकिन अभी कई ऐसी कुरीतियां हैं, जिनसे महिलाओं को निजात पाना है। ऐसी ही मुसीबत की शिकार एक अधेड़ 10 बच्चों की मां रुखसाना खातून हुई हैं। बसखारी थाना क्षेत्र के डोडो गांव की रुखसाना खातून की उम्र लगभग 50 साल है और उनके शौहर अब्दुल हक भी लगभग 55 के आसपास के हैं। इन दोनों मियां बीबी से कुल 10 संताने थीं, जिनमे 7 लड़के और 2 लड़कियां जीवित हैं और एक लड़की मर चुकी है। अब्दुल हक के तीन लड़के बालिग हैं, जो सऊदी अरब में रहकर कमाते हैं। दो लड़कों की शादी भी हो चुकी है और अब्दुल हक की दो लड़कियों में एक कि उम्र लगभग 16 साल हो चुकी है। अपने तीसरे लड़के की शादी के लिए अब्दुल हक 6 महीने पहले हंसवर थाना क्षेत्र में लड़की देखने गए थे, जिसकी उम्र 18 से 20 साल की बताई जा रही है। कामांध अब्दुल हक को लड़की इतनी पसंद आई कि लड़के बजाय उससे खुद ही निकाह पढ़ा लिया और अपने गांव लौटने के बजाय रात में फरार हो गए।
पहली पत्नी पहाड़ जैसी मुसीबत से लड़ रही है जंग
10 औलादों की यह मां अब अपने शौहर से अपने और अपने बच्चों के लिए जंग लड़ रही है। शौहर अब्दुल हक ने जब दूसरी शादी कुंवारी लड़की से करके फरार हो गया तो पहली पत्नी रुखसाना को जानकारी होने पर उन पर तो मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा। रुखसाना ने इसकी शिकायत स्थानीय थाने में कई बार की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इस बीच अब्दुल हक दूसरी पत्नी के साथ वापस आ तो गया, लेकिन गांव में न आकर इधर उधर रहना शुरू कर दिया। मुसीबत तो तब और बढ़ गई जब उसने अपने नाम की खेती की सारी जमीन एक एक करके बेंचना शुरू कर दिया। अब हालत यह हो गई है कि अब्दुल हक अपनी सारी जमीन बेंच चुका है और इधर शौहर से धोखा खाई पहली पत्नी अपने 6 नाबालिग बच्चों के साथ जिंदगी की जद्दोजहद से लड़ रही हैं। डोडो गांव के प्रधान आसिफ बताते हैं कि इस महिला रुखसाना के सामने बड़ी मुसीबत हैं।

महिला आयोग के निर्देश पर दर्ज हुआ मुकदमा
अब्दुल हक की करतूतों के खिलाफ पुलिस में रुखसाना की शिकायत के बाद भी कोई कार्यवाही नही हुई तो उन्होंने इसकी शिकायत महिला आयोग में की। महिला आयोग से निर्देश के बाद अब बसखारी पुलिस भी जागी है और अब रुखसाना खातून की शिकायत पर अब्दुल हक के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज किया है। उसके पहले भी रुखसाना खातून ने मुख्यमंत्री से प्रदेश और जिले के सभी अधिकारियों के पास अपनी फरियाद कर चुकी थी, लेकिन इस लाचार महिला के लिए किसी भी अधिकारी के कान पर जूं तक नही रेंगा।

दूसरी पत्नी को शादी से पहले भगा कर ले गया था
आशिक मिजाज अब्दुल हक अपने बेटे के लिए रिश्ता तय करने जरूर गया था, लेकिन जिस लड़की को देखने गया था, उससे पहले से अब्दुल हक के सम्बंध थे। यह बातें अब्दुल हक के उस लड़के गौस मोहम्मद ने बताई, जिसके लिए रिश्ता तय करने गया था। गौस ने बताया कि उसके पिता 18-19 साल की उस लड़की पहले लेकर भाग गए थे, जिसमें उनके खिलाफ लड़की के बाप ने नामजद एफआईआर दर्ज कराया था। हालांकि जब लड़की वापस आई तो सीजेएम कोर्ट पर उसने अपनी मर्जी से जाना स्वीकार कर लिया। मुकदमे से निजात मिलते ही दोनों ने शादी कर ली।