बेटा अपने दोस्त के ससुराल गया था, लेकिन वहाँ पर हुआ कुछ ऐसा की 3 दिन बाद वो मिला लेकिन....

फिरोजपुरझिरक जिले के बीवा गांव के मनिया बॉस के कुएं में शव मिलने से हड़कंप मच गया। शव को प्लास्टिक के कट्टे में बांध कर कुएं में फेंका गया था। हत्यारों ने युवक के टुकड़े-टुकड़े कर बोरी में बंद करके कुएं में फेंक दिया था। इस सम्बंध में मृतक के पिता दाऊद की शिकायत पर झिरका पुलिस ने कार्रवाई कर शव का पोस्टमार्टम करा कर अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया है।
पीड़ित के पिता दाऊद निवासी कीडानेर जिला भरतपुर (राजस्थान) ने बताया कि वसीम को उसका दोस्त रहीश निवासी फुसेता 17 सितम्बर को अपनी ससुराल बीवा लेकर आया था। वसीम के पास 70-80 हजार रुपये भी थे। जब वसीम दो तीन दिन तक घर नही लौटा ओर न ही फोन मिल पाया तो हमने जुरहड़ा थाने में शक के आधार पर अपहरण का मुकद्मा दर्ज करा दिया। चौथे दिन हमने फोन किया तो वसीम ने फोन उठा लिया और बताया कि वह अपने दोस्त रहिश की ससुराल बीवा में मौसम, आदिल पुत्र मुंशी के घर हूं। एक दो दिन में आ जाऊंगा।
पिता दाउद ने बताया कि तीन दिन बाद भी जब वसीम घर नही पहुंचा तो हमें शक हुआ कि आखिर वसीम घर क्यों नहीं लौट रहा है। इसके बाद हम बीवा आए और मौसम व आदिल से पूछताछ करने पर पता चला कि वसीम अपने दोस्त रहीश के साथ वापिस जा चुका है। लेकिन वसीम घर नहीं पहुंचा, इसके बाद मंगलवार को बीवा से किसी ने फोन पर सूचना दी कि मनिया बॉस के कुएं में एक शव प्लास्टिक के कट्टे में बांध कर पड़ा हुआ है। 
उसके बाद परिजन बीवा आए और कुएं से शव को निकाल कर देखा तो शव वसीम का ही था। दाऊद की सूचना पर झिरका पुलिस बीवा पहुंची और शव को अपने मे कब्जे ले लिया, झिरका पुलिस के जांच अधिकारी एएसआई सीताराम ने बताया कि हत्या का शक दोस्त रहीश व बीवा के मौसम, आदिल पर है, लेकिन मामला पहले ही राजस्थान के जुरहड़ा थाने में दर्ज है इसलिए सारी कार्यवाई जुरहड़ा थाने से ही होगी। उन्होंने बताया कि सामान्य कार्यवाई कर शव का पोस्टमार्टम करा कर अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया है।