पति-पत्नी ने 6 साल की लड़की को लिया गोद, एक दिन सामने आई उसकी काली सच्चाई

अगर आप हॉलीवुड फिल्में देखने के शौकीन हैं तो आपने 2009 में आई एक फिल्म ज़रूर देखी होगी जिसका नाम 'ऑर्फन' था। इस फिल्म में एक परिवार एक बच्ची को गोद लेता है लेकिन उसकी उम्र तीस के करीब होती है और वो पूरे परिवार को मारने का प्लान बनाती है। ऐसी ही एक लड़की असल ज़िंदगी में भी देखने को मिली है। 
क्रिस्टीन और माइकल बर्नेट नाम के एक जोड़े ने उक्रेन की एक 6 साल की बच्ची को गोद लिया। गोद लेने के बाद इस जोड़े पर इलज़ाम लगा कि वह अपनी गोद ली गई बच्ची पर अत्याचार करते हैं और उसे छोड़कर कनाडा चले गए हैं। नतालिया ग्रेस खुद को 6 साल की बच्ची बताती थी लेकिन जब सच्चाई सामने आई तो मामला कुछ और निकला। 
जांच में पता चला कि नतालिया की उम्र 6 साल नहीं बल्कि 22 साल है। जब क्रिस्टीन और माइकल से पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि नतालिया ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी। परिवार का कहना है कि जब उन्होंने नतालिया को गोद लिया था तो उन्हें उसकी उम्र के बारे में पता नहीं था। एक दिन जब उन्होंने उसे चलते हुए देखा तो वे हैरान रह गए। उनका कहना था कि वह सही से चल नहीं सकती थी लेकिन अनाथालय ने उन्हें इस बात की जानकारी भी नहीं दी थी। उसके अंदर ये कमी होने के बाद भी परिवार ने उसका बखूबी ख्याल रखा।
एक दिन पूरा परिवार छुट्टियां मनाने बीच पर गया। वहां उन्होंने देखा कि नतालिया केवल चल ही नहीं सकती बल्कि दौड़ भी सकती है। क्रिस्टीन को जल्द की पता चल गया कि नतालिया कोई बच्ची नहीं है वह एक वयस्क लड़की है। धीरे-धीरे सारा झूठ सामने आ गया। नतालिया जी उम्र की खुद को बताती थी असल में वह उससे काफी बड़ी थी। 
नतालिया अब परिवार पर हमले करने लगी उन्हें मारने की साजिश करने लगी। वह पूरे परिवार को लगातार मरने की धमकियां देने लगी और एक दिन तंग आकर नतालिया को डॉक्टर के पास ले जाय गया जहां उसने कबूल कर लिया कि वह कोई 6 साल की बच्ची नहीं बल्कि एक 22 साल की किशोरी है।