इस महिला ने सबके सामने खुद पर उड़ेला लिया कैरोसिन, उसका मांग भी था काफी अजीब

यूपी के देवबंद में दिन निकलते ही हाईवोल्टेज ड्रामा हो गया। अपनी चेतावनी के अनुसार जिला पंचायत सदस्य शशि त्यागी पुलिस को चकमा देकर विधायक आवास पहुंच गई और आत्मदाह करने लगी। इस दौरान वह बेहोश हो गईं। हालत बिगड़ने पर उन्हें आनन-फानन में देवबंद के ही एक अस्पताल भर्ती कराया गया है। जिला पंचायत सदस्य शशि त्यागी ने शुक्रवार को ही चेतावनी जारी कर दी थी कि वह देवबंद विधायक कुंवर ब्रिजेश के घर पहुंचकर आत्मदाह करेंगी।

पहले ही दी थी चेतावनी
इस चेतावनी के बाद पुलिस प्रशासन सतर्क हो गया था। सुबह से ही पुलिस की टीम के साथ पुलिस क्षेत्राधिकारी चौबे सिंह शशि त्यागी के आवास पर पहुंच गए और उन्हें मनाने लगे। शशि ने घर आए नेताओं और पुलिस अफसरों को ड्रॉइंग रूम में बैठा लिया। उच्च अधिकारी लगातार शशि त्यागी के आवास पर मौजूद अफसरों से वहां चल रही हलचल की पल-पल की सूचना लेते रहे लेकिन पुलिस का प्लान उस समय फेल हो गया जब चाय बनाने के बहाने शशि पुलिस अफसरों को अपने ड्राइंग रूम में बैठाकर छत के रास्ते विधायक के आवास पर पहुंच गई।

पुलिस को दिया चकमा
पुलिस अफसर इनके घर पर बैठे रहे और जिला पंचायत सदस्य छत के रास्ते होकर देवबंद विधायक कुंवर ब्रिजेश के आवास (कार्यालय) पहुंच गई। जब ड्रॉइंग रूम में बैठे अफसरों को पता चला कि शशि घर में मौजूद नहीं हैं तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सभी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी विधायक के घर की ओर दौड़ पड़े। यहां भी शशि ने पुलिस को चकमा दे दिया और वह सीधे विधायक कार्यालय जा पहुंची। यहां जिला पंचायत सदस्य ने खुद पर मिट्टी का तेल उड़ेल लिया और आत्मदाह का प्रयास करने लगी।

हायर सेंटर रेफर
गनीमत रही कि इससे पहले यहां पुलिस और प्रशासनिक अफसर पहुंच गए और शशि त्यागी को बचा लिया। इस दौरान हुई छीना-झपटी में शशि त्यागी की हालत बिगड़ गई और वह बेहोश हो गई। इसके बाद आनन-फानन में उन्हें नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहां हालत बिगड़ती देख चिकित्सकों ने हायर सेंटर रेफर कर दिया।

शशि त्यागी का है यह आरोप
शशि त्यागी ने शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेस में कहा था कि देवबंद विधायक फर्जी मुकदमे दर्ज करा रहे हैं। इसी से क्षुब्ध होकर वह आत्मदाह करेंगी। पहले से चेतावनी देने के बाद भी पुलिस उन्हें रोक नहीं पाई। उधर इस मामले में विधायक कुंवर ब्रिजेश का यही कहना है कि उन पर लगाए जा रहे आरोप निराधार हैं। यह घटना लखनऊ तक जा पहुंची हैं। सूत्रों के अनुसार लखनऊ से पूरे मामले की रिपोर्ट तलब कर ली गई है।