इनका नहीं कटता है चालान, इस मंत्री के परिवार के लिए नहीं कोई रुल्स

बिहार पुलिस ने तीन पुलिसकर्मियों को केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे की कार के पेपर्स जांच न करने को लेकर निलंबित कर दिया है। इन पुलिस कर्मियों में एक सब इंसपेक्टर भी शामिल है। पटना के पुलिस आयुक्त आनंद किशोर ने इन पुलिसकर्मियों को केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अरिजीत की कार के पेपर्स की जांच न करने के लिए एएसआई और दो कॉन्सटेबल को निलंबित कर दिया है। जब से नया मोटर व्हीकल कानून लागू हुआ है, तब से नियम को तोड़ने वाले पर काफी सख्ती बरती जा रही है।

निर्देश के बाद भी नहीं चेक हुए पेपर्स
एक न्यूज एजेंसी के अनुसार, अश्विनी के बेटे अरिजीत चौबे जिस कार को चला रहे थे, उसमे काले शीशे लगे हुए थे। उस कार में उनके परिवार के अन्य सदस्य भी बैठे हुए थे। पटना के कमिश्नर आनंद किशोर और ट्रैफिक एसपी डी. अमरकेश पटना पुलिस द्वारा किए जा रहे उस मुहिम की निगरानी कर रहे हैं जिसमें अधिक संख्या में ट्रफिक नियम का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। रविवार को ये सभी अधिकारी पटना की बेली रोड पर कार्यरत थे।
बेली रोड पर अरिजीत चौबे को गाड़ी को रुकने का इशारा किया गया पर उनके कार तक कोई पुलिसकर्मी नहीं गया और न ही उनके पेपर्स की जांच की। जिसके बाद वो वहां से चले गए। इसके बाद पटना कमिश्मर के निर्देश पर ट्रैफिक एसएसपी ने सब इंस्पेक्टर देवपाल पासवान और कॉन्सटेबल दिलीप चंद्र सिंह व पप्पू कुमार को ड्यूटी से निलंबित कर दिया।
वहीं पुलिस के बयान के मुताबिक, पटना कमिश्नर ने निर्देश दिया था कि काले शीशे चढ़ी गाड़िंयों के पेपर्स हर हाल में जांच किया जाना चाहिए और अगर इसमें गलती पकड़ी जाती है तो सख्त कार्रवाई करी जाएगी। केंद्रीय मंत्री के बेटे अरिजीत चौबे की गाड़ियों में भी काले शीशे लगे थे लेकिन पुलिसकर्मियों ने उनके पेपर्स की जांच नहीं की थी। जिसके बाद पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करते हुए पटना कमिश्नर ने तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया।