पति ने कुछ पैसे उधार लिए थे, जैसे ही वह घर पहुंचा तभी पत्नी हो गया कुछ ऐसा की..

इटावा के फ्रेंड्स कालोनी थाना अंतर्गत ग्राम गौरापुरा में मायके आयी महिला की हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। रकम के लेन-देन के विवाद में हमलावरों के निशाने पर पति था लेकिन उसने फायर होते ही खुद को बचा लिया तो निशाने पर वह आ गई। दिन-दहाड़े हुई हत्या से गांव में सनसनी फैल गई। 28 वर्षीय संगम यादव अपने प्रभाकांत यादव निवासी मलूपुर-किशनी मैनपुरी के साथ पिता के श्राद्ध कार्यक्रम में गुरुवार को अपने मायके गौरापुरा में आयी हुई थी। शुक्रवार की सुबह करीब साढ़े नौ बजे घर के दरवाजे पर हमलावरों ने दस्तक दी तो प्रभाकांत ने जैसे ही दरवाजा खोला वैसे ही हमलावर उन पर टूट पड़े। 
विवेक ने बताया कि बहनोई प्रभाकांत के तीन लाख रुपये इटावा निवासी रोहित नाम के युवक पर उधार थे, जिसमें वह एक लाख रुपये दे चुका था। गुरुवार की शाम बहनोई के साथ वह बाकी रकम लेने के लिए रोहित घर गया था। जहां रोहित नहीं मिला। उसकी मां द्वारा सिर्फ 500 रुपये दिए। रात में रोहित का कॉल बहनोई के पास आया कि जिसमें उसने अभद्र भाषा का प्रयोग किया। शुक्रवार की सुबह रोहित सहित चार नामजद और चार-पांच अज्ञात लोग बाइकों से घर पर आए और अभद्रता करने लगे। 
रोहित ने तमंचे से बहनोई पर फायर कर दिया उनके बचाव करने पर गोली बहन के जा लगी। मायके वाले संगम को कुछ दूरी पर स्थित निजी हास्पिटल ले गए। हालत गंभीर होने की वजह से वहां से यूएमएस सैफई ले जाया गया, जहां उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। संगम की शादी हुए करीब तीन वर्ष हुए थे। वह अपने पीछे डेढ़ वर्ष का बच्चा छोड़ गई है। विवेक ने बताया कि रोहित सहित चार नामजद और चार-पांच लोगों के खिलाफ तहरीर दी गई है। पुलिस के मुताबिक उसको घटना की सूचना दोपहर बाद मिली। तहरीर के आधार पर जांच की जा रही है।