युवक को सांप ने काटा, घरवालों ने पोस्टमार्टम रोक कर उसे जिंदा करने के लिए कराया झाड़-फूंक और फिर...

पंचकूला सैक्टर-6 स्थित सामान्य अस्पताल में मंगलवार दोपहर जमकर हंगामा हुआ। सर्पदंश का शिकार एक शख्स की मौत हो गई। लेकिन परिजन शव का पोस्टमार्टम करवाने के बजाय एक झाड़-फूंक करने वाले को बुला लाए। वे शव को अस्पताल की पार्किंग में ले आए। यहां एक झाड़-फूंक करने वाले ने मोर पंख और आक के पौधे से उसे जिंदा करने की कोशिश की। मृतक के पैर में ब्लेड मार कर जहर निकालने की कोशिश भी की लेकिन कुछ नहीं हुआ। यह सब पुलिस के सामने ही चलता रहा। जब कोई तरकीब काम नहीं आई तो आखिरकार परिजनों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मॉर्चरी में रखवा दिया।

डॉक्टर ने ई.सी.जी. करने के बाद किया मृत घोषित 
आशियाना फ्लैट्स निवासी देवनारायण राज मिस्त्री का काम करता था। मंगलवार को इसी दौरान उसे सांप ने काट लिया और वह नीचे गिर गया। वहां पर मौजूद अन्य मजदूरों ने देवनारायण को सैक्टर-26 स्थित सरकारी अस्पताल पहुंचाया। यहां से डॉक्टरों ने उसे सैक्टर-6 सिविल अस्पताल में रैफर कर दिया। देवनारायण को करीब 12 बजे सैक्टर-6 स्थित सामान्य अस्पताल में लाया गया, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। डॉक्टरों ने ई.सी.जी से इसकी पुष्टि भी की। मृतक के साथ आए लोगों ने देवनारायण के परिजनों को घटना की जानकारी दी। कुछ देर बाद ही देवनारायण की पत्नी, बच्चे व अन्य रिश्तेदार अस्पताल में पहुुंचे।

रिश्तेदारों ने किया हंगामा, एक घंटे का वक्त मांगा 
जब डॉक्टर शव को पोस्टमार्टम के लिए मॉर्चरी में भेजने लगे तो देवनारायण के रिश्तेदारों ने हंगामा कर दिया और पोस्टमार्टम करवाने से इन्कार कर दिया और शव को अस्पताल से बाहर ले आए। हंगामा बढ़ता देख मौक पर भारी पुलिस बल बुलाना पड़ा। पुलिस कर्मियों ने भी देवनारायण के रिश्तेदारों को समझाया की शव का पोस्टमार्टम करवाना जरूरी है। 
इसके बिना शव को नहीं ले जाया जा सकता लेकिन वे नहीं माने और झाड़-फूंक से मृतक देवनारायण को जिंदा करने के लिए एक घंटे का समय मांगा। पुलिस कर्मियों के सामने ही परिजनों ने झाड़-फूंक करने वाले लोगों को बुलाया और वह अपनी तरकीबें लगाता रहा। उसने मोर पंख व कुछ अन्य चीजों से उसे जिंदा ठीक करने की कोशिश लेकिन कोई चमत्कार नहीं हुआ।