मलेशिया गई थी युवती गलत धंधों के चंगुल में फंसी, बचकर लौटी तो बताया की क्या हुआ

ट्रेवल एजेंट ने बटाला की एक लड़की को 80 हजार के एवज में वर्क परमिट का झांसा देकर 15 दिन के वीजा पर मलेशिया भेज दिया। जब वह लड़की मलेशिया पहुंच गई तो वहां पहले से रह रही उसी एजेंट की बहन ने अपने साथियों के साथ मिलकर उस लड़की पर देह व्यापार करने का दबाव बनाना शुरू कर दिया। काफी डराने धमकाने के बाद भी जब वह लड़की देह व्यापार के लिए नहीं मानी तो उन लोगों ने लड़की को आगे बेचने की मंशा से एक कमरे में कैद कर दिया। इस दौरान अचानक किसी तरह लड़की को अपने रिश्तेदार से फोन पर बात करने का मौका मिल गया और लड़की ने सारी कहानी अपने रिश्तेदार के सामने बयान कर दी।

पीड़िता ने सुनाई अपनी पूरी दर्दभरी कहानी
वहीं दूसरी ओर लड़की के रिश्तेदार ने मुस्तैदी का परिचय देते हुए मलेशिया में रह रहे संबंधियों से सम्पर्क साधकर लड़की को एजेंट की बहन व उसके साथियों के चंगुल से रिहा करवाया व वापिस भारत भेजने का प्रबंध करवाया। वहीं दूसरी ओर कुल 9 दिन मलेशिया में बिताने के बाद अपने घर लौटी पीड़िता ने अपने घर वालों को अपनी दर्द भरी दास्तां बयान की तो घर वालों ने पूरे मामले की शिकायत पुलिस को कर दी। फ़िलहाल बटाला पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ट्रेवल एजेंट ने दिया था धोखा
पूरी घटना के बारे में जानकारी देते हुए पीड़िता ने बताया कि उनका एक दूर का रिश्तेदार लोगों को विदेश भेजने का काम करता है और उसी ने उसे 80 हज़ार रुपए के एवज में मलेशिया का 5 साल का वर्क परमिट दिलाने की बात कही। पीड़िता के परिवारिक सदस्यों ने पैसे इकट्ठे किए और लड़की को वादे के मुताबिक मलेशिया भेज दिया गया। वहां पहुंच कर उसे पता चला कि उसका वीज़ा केवल 15 दिनों के लिए मान्य है। वादे के मुताबिक, मलेशिया पहुंचने के बाद ट्रेवल एजेंट की बहन उसे लेने आने वाली थी, जो पहले से मलेशिया में रह रही थी। लेकिन एजेंट की बहन तो नहीं आई लेकिन पीड़िता को एयरपोर्ट से रिसीव करने उस ने अपने एक कारिंदे को भेजा।

और फिर कैसे बचकर लौट आई पीड़िता?
अगले कुछ दिन बीतने के बाद वह करिंदा पीड़िता को देह व्यापार करने के लिए दबाव बनाने लगा। काफी कोशिशों के बावजूद जब पीड़िता ने देह व्यापार करने से मना कर दिया तो उसने लड़की को आगे बेचने के मकसद से एक कमरे में कैद कर दिया। इसी दौरान एक दिन इत्तफाक से लड़की के हाथ एक मोबाइल फोन लग गया और उसने समय न गंवाते हुए अपने एक रिश्तेदार को सारी व्यथा बताई। वहीं दूसरी ओर पीड़िता के रिश्तेदार ने मुस्तैदी का परिचय देते हुए मलेशिया में रहने वाले परिचितों को फोनकर लड़की को छुड़ाने के लिए कहा और तब जाकर पीड़िता उन लोगों के चंगुल से आज़ाद हो पाई।

पुलिस ने बताया की जांचकर करेंगे कार्रवाई
पीड़िता की मां ने कहा कि इसके लिए आरोपी एजेंट व मलेशिया में रहने वाली उसकी बहन पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि फ़िलहाल पूरे मामले की शिकायत बटाला के थाना सिटी में दर्ज करवाई गई है। मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी ने बताया की उनके पास पीड़िता ने शिकायत दर्ज करवाई है और पूरे मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो भी आरोपी पाया जाएगा उसके खिलाफ क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी।