भाई ने बहन और उसके प्रेमी के साथ घर में घुसकर कर दिया ये काम, और फिर जो हुआ

बागपत में एक बार फिर रिश्तों में खून बहाया गया है। चचेरे भाई ने बहन और उसके प्रेमी को घर मे घुस कर गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया है। देर रात जब बड़ौत में पुलिस चेकिंग कर रही थी, तो घटना के आरोपी की पुलिस से मुठभेड़ हो गई, जिसमें आरोपी पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। यह सनसनीखेज घटना बड़ौत कोतवाली क्षेत्र के नई बस्ती इलाके की है, जहां यासमीन नाम की महिला को उसके चचरे भाई आबिद ने घर मे घुसकर गोली मार दी। आसमीन की मौके पर ही मौत हो गई। 
इससे पहले आबिद ने यासमीन के जानकार व्यक्ति गफ्फार को भी गोली मारी। गफ्फार की दिल्ली भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। इस घटना पर घायल के भाई का कहना है, 'हम दरवाजे के सामने बैठे हुए थे, बाहर से पटाखे के शोर जैसी आवाज सुनवाई दी। गफ्फार चिल्लाकर बोला कि इन लोगों ने गोली मार दी है। हम जैसे बाहर आए, तो वह भाग निकला। गोली लगने से यासमीन की मौत हो गई, जबकि गफ्तार के पेट में गोली लगी। हमारी उनसे कोई रिश्तेदारी नहीं है।' बागपत के एसएसपी अनिल कुमार सिंह ने बताया, 'आरोपी चचेरे भाई का नाम आबिद है, जिसने यासमीन को मौत को घाट उतार दिया। 
इसी ने गफ्फार को भी गोली मारकर घायल कर दिया। गफ्फार की उपचार के दौरान मौत हो गई। प्रारंभिक जांच में यासमीन और गफ्फार के अवैध संबंधों का मामला सामने आया है, घटना की जांच की जा रही है। देर रात पुलिस चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान आबिद का पुलिस से मुकाबला हो गया। दोनों ओर से हुई फायरिंग में आबिद घायल हो गया, जबकि एक सिपाही की बुलैट प्रूफ जैकेट में गोली लगी है। यासमीन को उसके पति ने छोड़ रखा था, जिसके बाद वह अपने मायके में रह रही थी।