इस महिला IAS अधिकारी का दर्द, बोलीं-ऑफिस में मेरे साथ भी होता है दुर्व्यवहार, जानें ऐसा क्या हुआ

उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) कमिश्नर वर्षा जोशी ने एक महिला की शिकायत पर जवाब देते हुए कहा है कि वो खुद दफ्तर में दुर्व्यवहार का सामना करती हैं, ऐसे में उन्हें नहीं समझ आता कि इसका क्या समाधान हो सकता है। ट्विटर पर उन्होंने ये बात लिखी है। जोशी ने लिखा कि लोग अक्सर महिला अधिकारियों के साथ भी दुर्व्यवहार करते हैं। मैं खुद हर रोज दफ्तर में दुर्व्यवहार का सामना करती हूं। 
एक महिला ने ट्विटर पर वर्षा जोशी को टैग करते हुए शिकायत की थी कि उनके एरिया में सड़क पर बैठकर लोग ताश खेलते हैं। ये आती-जाती महिलाओं को घूरते हैं और उन पर फब्तियां कसते हैं। कई बार शिकायत के बाद कुछ नहीं हुआ, मैम आप इस पर ध्यान दें। इस पर रिप्लाई करते हुए आईएएस अफसर वर्षा ने लिखा कि यो तो महिलाओं के सामने एक ऐसा मसला है जिसका सामना उनको हर दिन 24 घंटे करना होता है। वर्षा ने लिखा कि उत्तर भारत में हर समय महिलाओं के सामने ऐसे चुनौतियां रहती हैं। मेरे साथ खुद मेरे दफ्तर में दुर्व्यवहार होता है। 
अक्सर पुरुष लोग आपकी स्पेस को घेरते हैं, उन्हें पता तक नहीं होता कि वो क्या कर रहे हैं। बताओ आखिर इसका क्या समाधान हो सकता है। 1995 बैच की आईएएस वर्षा जोशी दिसंबर 2018 से उत्तरी दिल्ली निगम की आयुक्त हैं। वह उत्तरी दिल्ली निगम में पहली महिला आयुक्त भी हैं। 
जोशी के ट्वीट के बाद लोग सवाल उठा रहे हैं कि अगर राजधानी में एक आईएएस अफसर खुद को सहज महसूस नहीं कर रही है तो फिर आम औरतों की सुरक्षा के बारे में तो क्या ही कहा जा सकता है। वहीं इस पर उत्तरी नगर निगम के महापौर अवतार सिंह ने कहा है कि वर्षा जोशी मेरी बहन समान हैं। उनके साथ किसी गलत बर्ताव को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।