इन बाबाओं से रहें सावधान, भिक्षा मांगने के बहाने 11 जिलों में कर चुके हैं ये वारदात

बाबा का वेश धरकर भिक्षा मांगने के बहाने लूटपाट करने वाले गिरोह के सरगना समेत तीन आरोपियों को सीआईए गोहाना की टीम ने गिरफ्तार किया है। राज्य स्तरीय गिरोह के तीन आरोपियों की गिरफ्तारी से 11 जिलों में लूट की 32 वारदातों का खुलासा हुआ है। आरोपी बलेनो गाड़ी में सवार होकर वारदात को अंजाम देने के लिए निकलते थे। वे राहगीर को भिक्षा मांगने के बहाने रोकते थे और फिर नकदी छीन लेते थे। गिरफ्तार आरोपियों में रेवाड़ी के गांव काहनोरा का रहने वाला कृष्ण नाथ और पानीपत के गांव टिटाना का रहने वाला सुरेंद्र नाथ व सिकंदर नाथ हैं। 
पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है। एएसपी उदय सिंह मीणा ने बताया कि 31 अगस्त को गांव माहरा निवासी ओमप्रकाश ने थाना बरोदा में लूटपाट की शिकायत दी थी। उसने बताया था कि वह लकड़ी खरीदने और बेचने का काम करता है। वह अपनी मोपेड पर घर से गोहाना की तरफ आ रहा था। उसने बताया था कि उसके पास करीब 85 हजार रुपये थे, जब वह गोहाना-रोहतक हाईवे पर रेलवे ओवरब्रिज के समीप पहुंचा तो उसके सामने एक सफेद रंग की कार आकर रुकी थी। 

कार से भगवा रंग के कपड़े पहने तीन युवक उतरे थे। उनमें से दो ने उसे पकड़ लिया था और एक ने उसकी जेब से पैसे निकाल लिए थे। बाद में कार में बैठकर भाग गए थे। बरोदा थाना पुलिस ने लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया था। बाद में मामले की जांच सीआईए गोहाना पुलिस को सौंपी गई थी। मंगलवार रात को सीआईए स्टाफ गोहाना प्रभारी जलजीत सिंह अपनी टीम के साथ गोहाना बाइपास पर थे। 
इसी दौरान उन्हें सूचना मिली कि तीन युवक बाबा के वेश में बलेनो गाड़ी लेकर लूटपाट का षड्यंत्र बना रहे हैं। जिस पर पुलिस टीम ने कार्रवाई करते हुए तीनों को काबू कर लिया। उनके कब्जे से बलेनो गाड़ी भी बरामद कर ली। आरेपियों ने अपनी पहचान कृष्ण नाथ, सुरेंद्र नाथ और सिकंदर नाथ के रूप में दी। सुरेंद्र नाथ गिरोह का सरगना है। पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है।