गोरखपुर के चौरीचौरा थाना क्षेत्र में ग्राम बालखुर्द के टोला डुडी निवासी रामलखन पासवान पुत्र गुदरी महज 11 बर्ष की उम्र में घर से लापता हो गए थे। बताया जाता है कि करीब 70 साल बाद फिल्मी अंदाज मे मंगलवार की सुबह अपने जन्मभूमि पर वापस आ गए। 
उन्होंने वापस आ कर देखा तो पूरे गांव का नजारा बदला हुआ था। गांव में अपने भाई रामविलास का नाम बताया तो उसके परिवार के आखों में खुशी का आंसू छलक आए। रामलगन को देखने के लिए गांव के काफी लोग एकत्र हो गए। गांव के कुछ बुजुर्ग उसे देखने और बातचीत करने बाद पहचाने। 
उनके भाई रामविलास की बहू अनिता देवी ने खुशी मन से कहा कि घर आए तो हम लोग इनका देखभाल करेंगे। रामलगन की उम्र करीब 80 बर्ष से अधिक का हो गई है। उसने बताया कि वह आसाम के सिलीगुड़ी में अखबार बेचता था। उसके बीबी बच्चे नहीं  है।