थानेदार साहब को भारी पड़ गई 'पुलिसगिरी', भीड़ ने उनको दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, जानिए गलती

सुपौल. बिहार में उग्र भीड़ ने एक थानेदार को निशाना बनाते हुए उसकी जमकर पिटाई कर दी. मामला सुपौल जिले से जुड़ा है जहां छातापुर के थानाध्यक्ष राघव शरण की पिटाई का वीडियो वायरल हो रहा है. दरअसल, यह घटना उस वक्त की है जब छातापुर थानाध्यक्ष द्वारा अपने दलबल के साथ महिलाओं की पिटाई की जा रही थी. इसी दौरान छातापुर थानाध्यक्ष भी भीड़ के हत्थे चढ़ गए, जिसके बाद उनकी पिटाई कर दी गई. थानेदार की पिटाई का वीडियो हाथ लगा है, जिसे वहां मौजूद एक राहगीर ने शूट किया है.
थानेदार की पिटाई के बाद पुलिस ने वहां आम राहगीरों सहित महिलाओं को घर में घुसकर पीट डाला, जिसके बाद से इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है. दरअसल, मंगलवार को एक बाइक दुर्घटना के बाद आम लोगों द्वारा बाइक और बाइक सवार को बंधक बना लिया गया था. इसके बाद पुलिस के कहने पर लोगों ने बाइक सवार को तो छोड़ दिया, लेकिन बाइक को जब्त कर के रखे हुआ था.

बहस के दौरान थानेदार ने छोड़ा हाथ
इसी दौरान छातापुर थानाध्यक्ष बाइक लेने के लिए जब पीड़ित के घर पहुंचे तब दोनों में नोकझोंक हुई. इस दौरान छातापुर थानाध्यक्ष ने एक व्यक्ति पर हाथ चला दिया. इसके बाद थानेदार के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और उनकी भी युवकों औऱ महिलाओं ने पिटाई कर डाली. थानेदार को पिटता देख पुलिस वहां से तो भाग खड़ी हुई, लेकिन बाद में महिला पुलिस और दर्जनों पुलिसकर्मियों को लेकर दोबारा उस गांव में पहुंची.

पुलिस ने की जवाबी कार्रवाई

इसके बाद पुलिस ने घर में घुसकर लोगों की पिटाई कर दी, जिसमें करीब आधा दर्जन महिलाएं भी घायल हैं. थानेदार की इस कार्रवाई के बाद से इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है. छातापुर थानाध्यक्ष पर कोई कार्रवाई नहीं होने से लोगों में आक्रोश पनपता जा रहा है.