जानिए, ऐसा क्‍या हुआ कि इस बेटी ने अपने ही मां-बाप के साथ कर दिया ऐसा काम...

चौरीचौरा इलाके के बेलवा बाबू गांव में बुजुर्ग दंपती को उन्हीं की बेटी ने चाकू से गोदकर मौत के घाट उतार दिया। गुरुवार को हुई इस घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची तो आरोपित पुत्री घटना में प्रयुक्त चाकू हाथ में लेकर मां-बाप के शवों के बीच में बैठी मिली। जिसने भी यह दृश्य देखा, हैरान रह गया। उसे गिरफ्तार कर लिया गया। हत्या की वजह जानने के लिए थाने लाकर पूछताछ करने पर वह बहकी-बहकी बातें करती रही। मृतक के चचेरे भाई उमाशंकर की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

एक दिन पहले सूरत से आए थे पति-पत्‍नी और बेटी
बेलवा बाबू गांव के केशव गोपाल सिंह (70) एयरफोर्स से सेवानिवृत्त थे। पत्नी द्रोपदी देवी (67) अपनी तलाकशुदा बेटी सुमन सिंह (44) और छोटे बेटे विशाल सिंह के साथ गुजरात के सूरत शहर में रहते थे। विशाल वहीं निजी फैक्ट्री में काम करता है। बुधवार शाम वे पत्नी व तलाकशुदा बेटी के साथ गांव आए थे।

दातून करते समय मां-बाप पर किया चाकू से हमला
पड़ोसियों से मिली जानकारी के हवाले से पुलिस ने बताया है कि गुरुवार सुबह पति-पत्नी, दातून कर रहे थे। इसी दौरान सुमन ने चाकू से उन पर ताबड़तोड़ वार करना शुरू कर दिया। पति-पत्नी की चीख सुन पड़ोसी घर के अंदर पहुंचे तो सुमन सिंह, उन पर वार करती दिखी। उस समय वह इतनी आक्रामक थी कि कोई भी उसे पकडऩे का साहस नहीं जुटा सका। केशव गोपाल के दो बेटे तथा एक बेटी हैं। बड़ा बेटा गोरखपुर में किराये का कमरा लेकर रहता है और चौरीचौरा इलाके के ही एक निजी विद्यालय में पढ़ाता है। बड़ा बेटा भी तलाकशुदा है।

पुलिस के अनुसार मानसिक स्थिति ठीक नहीं

एसपी नार्थ अरविंद कुमार पांडेय के अनुसार बातचीत से आरोपित की मानसिक स्थिति ठीक नहीं लग रही है। पूछताछ करने पर वह माता-पिता की हत्या की अलग-अलग वजह बताती रही। घटना की फिलहाल कोई ठोस वजह नहीं पता चल पाई है। आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है।