मां से कहा कि चाय पीकर आता हूं और फिर पुल पर ही कार खड़ी कर बेटे ने कर दिया ऐसा काम...

वाराणसी में एक युवक ने माँ से कहा कि चाय पीकर आता हूं। इसके बार कार लेकर निकला और सामने घाट पुल पर वाहन खड़ा कर गंगा में छलांग लगा दी। युवक को गंगा में छलांग लगाते हुए स्थानीय लोगों ने देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची रामनगर पुलिस ने एनडीआरएफ के साथ युवक की तलाश शुरू की है लेकिन वह नहीं मिल पाया।
बिहार के भभुआ निवासी वेद प्रकाश पाठक का दो ईट भट्टा है। वेद प्रकाश ने रामनगर के रस्तापुर वार्ड में दस वर्ष पहले मकान बनवाया था, यहां पर उनकी पत्नी कविता, बेटे चंदन, शंभू व उनकी नानी के साथ रहती थी। शंभू पाठक (20) हाई स्कूल पास करने के बाद अपने पिता के बिजनेस में सहयोग करता था। शुक्रवार की सुबह वह मां से कहा कि लंका से चाय पीकर आता हूं और कार लेकर निकल गया। इसके बाद वह सामनेघाट पुल पर पहुंचा है इसके बाद कार खड़ी करके वह गंगा में कूद गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शंभू के परिजनों को घटना की जानकारी दी। 
मौके पर पहुंचे शंभू पाठक के मौसा पिन्टु पाठक पहुंचे और उन्होंने कार से इस बात की पृष्टि की वह उनके परिवार की है। इसके बाद पुलिस ने मल्लाहों के साथ गंगा में युवक की तलाश का प्रयास किया। इसके बाद एनडीआरएफ को भी सहयोग लिया गया है लेकिन युवक का पता नहीं चल पाया है। गंगा में इस समय बहाव तेज है इसलिए युवक के बह जाने की आशंका जतायी जा रही है। युवक को गंगा में छलांग लगाने के बाद इस बात की चर्चा थी कि उसके साथ एक युवती भी थी और प्रेम प्रसंग के चलते ही उसने छलांग लगायी है लेकिन इस बात की पुष्टि नहीं हो पायी है। युवक के गंगा में छलांग लगाने के पीछे अभी पारिवारिक विवाद बताया जा रहा है।