प्रेमी ने दिया धोखा, और किसी और लड़की से की शादी तो प्रेमिका ने किया कुछ ऐसा की...

मेरठ की कंकरखेड़ा पुलिस ने प्रेमी की नवविवाहिता पत्नी की हत्या की साजिश रचने के आरोप में युवती और तीन शूटरों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। पुलिस ने बताया कि 1 अगस्त 2019 को एसटीएफ लखनऊ इंस्पेक्टर अंजलि तिवारी के नेतृत्व में टीम मेरठ पहुंची। कंकरखेड़ा पुलिस के साथ टीम ने कंकरखेड़ा के गुरुनानक बाजार स्थित न्यू जायसवाल लॉज पर छापा मारा। यहां से तीन शूटर विजय अग्रवाल उर्फ ​​विजय कालिया निवासी एसएसई / 200 सेक्टर-सी विकास नगर लखनऊ, अखिलेश वाजपेयी पुत्र नेतराम निवासी अस्थाना कोट सीतापुर और राजकुमार राय उर्फ ​​अमन राय पुत्र हरिकेश निवासी अमौली बालुवा चंदौली को गिरफ्तार किया गया। 
इन आरोपियों के पास से एक कार, एक पिस्तौल, तीन कारतूस और एक चाकू के अलावा लगभग आधा दर्जन मोबाइल फोन बरामद किए गए थे। आरोपियों से पूछताछ के दौरान पता चला कि ये तीनों शूटर कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के किंग्स पार्क कॉलोनी निवासी मुकुल गुप्ता की पत्नी मनीषा की हत्या के लिए मुकुल की प्रेमिका प्रियंका निवासी वाराणसी ने किराए पर हायर किया था। उसने अपने भाई विवेक के साथ मिलकर मनीषा को मारने की साजिश रची ताकि वह मुकुल से शादी कर सके। सुपारी पांच लाख रुपये में तय की गई थी, जिसमें 70 हजार रुपये शूटरों को अग्रिम दिए गए थे।
पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तारी के दौरान पूछताछ में आरोपी ने बताया था कि वाराणसी की रहने वाली प्रियंका करीब सात साल पहले दिल्ली में बीटेक कर रही थी। वहीं, मेरठ का रहने वाला मुकुल भी पढ़ाई कर रहा था। दोनों को दोस्ती के बाद प्यार हो गया। मुकुल को हरियाणा स्थित एक सरकारी बैंक में क्लर्क की और प्रियंका को मिर्जापुर के एक निजी बैंक में कैशियर की नौकरी मिल गई। मुकुल ने प्रियंका से किनारा कर 10 जुलाई 2019 को मनीषा से शादी कर ली। इस सूचना पर, प्रियंका ने अपने भाई के साथ मनीषा को मारने की साजिश रची। पुलिस के मुताबिक, तीनों शूटर 1 अगस्त से पहले 23 जुलाई को मेरठ आए थे। उन्होंने दो दिन तक रेकी की। लेकिन सफल नहीं हो सका।