पटना में फिर मार दी गई किसी की बेटी, आरोपी पति को किया गया गिरफ्तार, जानें क्या था कारण

पत्रकारनगर थाना क्षेत्र के ललितनगर में विवाहिता स्वीटी की संदिग्ध हाल में मौत हो गई। देहज के लिए हत्या का आरोप लगाते हुए आधा दर्जन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। पुलिस ने आरोपित पति को गिरफ्तार कर जांच पड़ताल में जुट गई है। 

सात साल पहले हुई थी शादी
पटना के कुम्हरार, नगीना नगर निवासी व सीआरपीएफ के रिटायर्ड कमांडेंट राजनाथ सिंह ने पुलिस को की गई शिकायत में कहा है कि स्वीटी उनकी नतिनी थी। 24 फरवरी 2012 को उसकी शादी पत्रकार नगर थाना क्षेत्र के ललितनगर निवासी संजीव के साथ हुई थी। संजीव दवा का कारोबार करने के साथ ठेकेदारी करता है। स्वीटी का डेढ़ साल का बेटा भी है। नाना का आरोप है कि दहेज के लिए स्वीटी को परेशान किया जाता था। दहेज के कारण ससुराल वालों ने उसकी हत्या कर दी।   
 
सास ससुर सहित घर के हर सदस्य पर मुकदमा
स्वीटी के नाना राजनाथ सिंह ने स्वीटी के पति संजीव कुमार, ससुर योगेन्द्र प्रसाद, सास शकुंतला देवी, गोतनी जूली कुमारी, ननद लवली सहित छह लोगों को पर मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने संजीव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि मामले में हत्या और आत्महत्या के बीच जांच चल रही है। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है। 

दरवाजा खुला था और बेड पर पड़ी थी लाश
स्वीटी के नाना का आरोप है कि वह जब उसके घर पहुंचे तो दरवाजा खुला था और बेड पर स्वीटी की लाश पड़ी थी। घटना की सूचना भी पुलिस को नहीं दी गई थी। घर वालों ने बताया कि स्वीटी ने आत्महत्या कर ली है। राजनाथ सिंह ने स्वीटी के पति और परिवार के अन्य सदस्यों पर दहेज के लिए योजना बनाकर मारने और आत्महत्या का रूप देने का आरोप लगाया है। राजनाथ सिंह का कहना है कि जब वह घर पहुंचे तो बेड के नीचे पड़े एक कपड़े को दिखाया गया और बताया गया कि इसी के सहारे वह पंखे से लटक गई थी। लेकिन राजनाथ ने घटनास्थल को देख बताया है कि स्वीटी की हत्या की गई है।