दुल्हन के वरमाला पहनाते ही दुल्हे ने तोडा दम, देखें ये पूरा विडियो!

भारत में शादी को सबसे अहम दर्जा दिया जाता है.  शादी से पहले दूल्हा और दुल्हन एक दूसरे के बारे में कई सपने देखने लग जाते हैं.  ऐसे में जब शादी का दिन आता है तो वह सबसे खास दिन माना जाता है. शादी के दिन दो अनजान लोग एक रिश्ते में जिंदगी भर के लिए बंध जाते हैं.  शादी के इस समय को खास बनाने में दूल्हा-दुल्हन कोई कसर नहीं छोड़ते.  मैं अपने कपड़ों से लेकर अपने खान-पान और रहन-सहन का पूरा ध्यान रखते हैं.  शादी का माहौल खुशियों का माहौल होता है क्योंकि इस दिन दो परिवार आपस में ज़िंदगी भर के लिए बन जाते हैं.
परंतु अगर शादी के इस खुशनुमा माहौल में किसी के साथ दुर्भाग्य वाली घटना घट जाए तो उसका क्या होगा.  दरअसल अभी हाल ही में हमारे सामने एक ऐसा ही अजीबोगरीब मामला आया है जहां दूल्हा-दुल्हन खुशी-खुशी शादी के बंधन में बंधने वाले थे परंतु जैसे ही दुल्हन ने अपने दूल्हे के गले में वरमाला डाली वह वहीं गिर पड़ा. चलिए जानते हैं आखिर यह पूरा मामला क्या था.

12 बजे हुआ था दूल्हा बेहोश
आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि यह घटना पंजाब के परवाना शहर की है.  परवाना में रहने वाले वरिंदर खेड़ा के 28 वर्षीय बेटे सौरभ की बीते 29 नवंबर को शादी हो रही थी.  शादी के दिन सारा कुछ सही जा रहा था और बरात मोगा से फिरोजपुर बैंड-बाजे के साथ जा रही थी.  इस खुशी भरे माहौल में अचानक जयमाला का फंक्शन शुरु हो गया जिसके बाद कुछ ऐसी घटना घटी जिसमें वहां मौजूद सभी लोगों के रोंगटे खड़े कर दिए.

दरअसल 12:00 बजे के करीबन सौरभ की वरमाला का फंक्शन शुरु किया गया जिसके बाद स्टेज पर उसकी दुल्हन को बुलवाया गया.  जैसे ही दुल्हन सौरभ को वरमाला पहला नहीं लगी तो दूल्हा पीछे की तरफ बेहोश होकर गिर गया. दूल्हे को अचानक गिरता देख वहां मौजूद सभी बराती और लड़की वाले भौचक्के रह गए.

हार्ट अटैक थी गिरने की वजह
दरअसल दूल्हे के अचानक गिर जाने का कारण हार्ट अटैक था जिसकी वजह से स्टेज पर ही गिर पड़ा.  परिजनों ने 15 मिनट तक लगातार उसको पानी पिलाकर होश में लाने की कोशिश की परंतु जब तक उसको अस्पताल ले जाया गया तब तक बहुत देर हो चुकी थी.  अस्पताल में डॉक्टर ने दूल्हे को मृत घोषित कर दिया.  इसके बावजूद भी दूल्हे के परिवार वालों ने उम्मीद नहीं छोड़ी और उसको लुधियाना लेकर चले गए परंतु वहां भी उनके हाथ निराशा ही लगी.

मां बाप का इकलौता बेटा था
सौरभ अपने मां बाप का एकलौता बेटा था और वह एक स्टेशनरी और मोबाइल की दुकान चलाता था. अपने बेटे की शादी वाले दिन ही उसकी मृत्यु एक मां बाप के लिए कितनी कठिन हो सकती है यह तो केवल वह मां-बाप ही बता सकते हैं.  बहरहाल इससे पहले भी कई dulhe ऐसे ही अपनी शादी वाले दिन अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं.