उधार दिए पैसे लेने गई महिला के साथ कर दिया ऐसा काम की देखने वाले हुए हैरान, जानिए....

नंगल जिले के उपमंडल के गांव निक्कू नंगल में एक महिला ने उधार दिए गए पैसे मांगने आई पूर्व पंचायत सदस्या की गुस्से में आकर गला दबाकर हत्या कर दी। इस वारदात में उक्त आरोपी महिला के भाई और चाचा ससुर ने भी उसका साथ दिया। इसके बाद आनन-फानन में उन्होंने शव को बोरी में डालकर झाड़ियों में फेंक दिया जिससे इलाके में दहशत का माहौल है। मृतक महिला की बहू इंदू बाला पत्नी राजीव कुमार ने पुलिस को शिकायत दी कि वह अपनी सास पूर्व पंचायत सदस्या तारा रानी (49) पत्नी सतपाल के साथ 16 अक्तूबर को उसकी सास ने कहा कि गांव में किसी से पैसे लेने हैं। 
जब वह शाम तक घर वापस नहीं लौटी तो उनकी तलाश शुरू की। काफी तलाश करने पर भी जब वह नहीं मिली तो इसकी सूचना नंगल पुलिस को दी। वहीं मृतक महिला का पति सतपाल जोकि ट्रक चलाता है अभी शहर से बाहर गया हुआ है। सूचना मिलते ही नंगल के एस.एच.ओ. पवन कुमार की अगुवाई में एक टीम ने गांव में पहुंच कर जांच शुरू की। एस.एच.ओ. पवन कुमार ने बताया कि महिला की बहू के बताने पर वह उस घर में गए जहां उसकी सास तारा रानी पैसे लेने गई थी। उक्त घर की मालकिन महिला से पूछताछ की गई तो उसने अपना गुनाह स्वीकार कर लिया। मृतका तारा रानी अपने पीछे 1 बेटा और 3 बेटियां छोड़ गई हैं।

गुस्से में आकर वारदात को दिया अंजाम
नंगल के डी.एस.पी. दवेंद्र सिंह ने नंगल थाना में आयोजित पत्रकार वार्ता दौरान उक्त मर्डर की गुत्थी सुलझा लेने का दावा करते हुए बताया कि एस.एच.ओ. पवन कुमार ने सूचना मिलने के बाद तुरंत हरकत में आते ही मामले की हर पहलू से जांच कर कथित आरोपित महिला चांदना को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में कथित आरोपी महिला ने बताया कि पूर्व पंचायत सदस्य तारा रानी जोर-जोर से चिल्लाती व अपशब्द बोलती हुई हमारे घर में घुस कर अपने पैसे मांगने लगी। इस दौरान कहासुनी होने पर बात हाथापाई तक आ गई। उसके द्वारा बोले गए अपशब्द बर्दाश्त नहीं हुए। इस पर घर में बैठे उसके भाई, चाचा ससुर (बंगाल निवासी) और उसने गुस्से में आकर तारा रानी का गला पकड़ कर दबा दिया। 
इसके बाद आनन-फानन में शव को बोरी में डालकर झाड़ियों में फेंक दिया। डी.एस.पी. ने बताया कि शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए शवगृह में रखवा दिया है। चाचा ससुर और भाई को पकड़ने के लिए टीमें बनाकर भेजा जा रहा है। आरोपी महिला ने वापस करने थे 14 हजार रुपए। उन्होंने बताया कि मृतक महिला पिछली पंचायत में मैंबर थी और वह मनरेगा का काम देखती थी। कथित आरोपी महिला ने उससे 19 हजार रुपए उधार ले रखे थे जिसमें से 5 हजार रुपए वापस कर दिए थे और 14 हजार रुपए देने थे जिसको लेकर मृतक तारा रानी बाकी पैसे लेने के लिए आरोपी चांदना के घर गई थी।