पत्नी से उलझ गया पाकिस्तान से भाग कर आया विधायक, पत्नी बोली कोई काम नहीं करता

कुछ महीने पहले पड़ोसी देश पाकिस्तान से भाग कर भारत आकर रह रहे पूर्व विधायक बलदेव कुमार का करवा चौथ के दिन पत्‍नी से विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि बलदेव कुमार को पुलिस स्टेशन जाना पड़ा। मिली जानकारी के अनुसार बलदेव कुमार की सास ज्योति ने उनपर अपनी पत्‍नी भावना और ससुरालियों तंग करने का आरोप लगाकर पुलिस को शिकायत दी। वीरवार विवाद बढ़ा तो उनकी सास ज्योति ने पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112 पर शिकायत कर दी। इसके बाद बलदेव को थाना सिटी-एक बुलाया गया। हालांकि बाद में दोनों पक्षों में लिखित समझौता हो गया।
वहीं एस.एच.ओ .कुलजिंदर सिंह ने कहा कि सास ज्योति ने बलदेव कुमार पर पत्‍नी को तंग करने और परिवार के पालन-पोषण के लिए कोई काम न करने के आरोप लगाए थे। समझौता होने के बाद ससुराल वाले बलदेव को दोबारा अपने साथ ले गए। पूरे मामले पर बलदेव कुमार ने कहा कि ससुराल वाले उसे काम करने को कह रहे हैं, लेकिन उनके पास वर्क परमिट नहीं है। वीजा भी 12 नवंबर को खत्म हो जाएगा। करीब 15 दिन पहले वीजा बढ़ाने की अर्जी दी थी, जिस पर कोई जवाब नहीं मिला है। भारत में राजनीतिक शरण मांग पर भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। 
गौरतलब है कि बलदेव कुमार पाकिस्‍तान के खैबर पख्तूनख्वा (केपीके) राज्य की बारीकोट सीट से पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पूर्व विधायक थे। वह सहजधारी सिख हैं और उनपर पाकिस्तान में एक अन्य विधायक पर हत्या का झूठा आरोप लगाकर उन्हें 2 साल के लिए जेल में डाल दिया गया था। वह पिछले दिनों विवाद में रहे और इसी कारण पाकिस्‍तान से भारत आ गए थे। बलदेव की पत्नी भारतीय नागरिक है उनकी शादी 2007 में लुधियाना के खन्ना की रहने वाली भावना से हुई थी।
उनका ससुराल समराला के पास मॉडल टाउन में रहता है। उनके दो बच्चे पाकिस्तानी नागरिक हैं। उनकी 10 साल की बेटी रिया थैलेसीमिया की मरीज है और उसका हर 15 दिन बाद खून बदला जाता है। वह कहते हैं कि अपनी बच्ची की जान बचाने के लिए वहां पर अल्पसंख्यकों के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं तक नहीं है। बलदेव ने बताया कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं और सिखों पर अत्याचार किया जा रहा है। जिसके चलते वह अब पाकिस्तान जाना ही नहीं चाहते हैं।