करवा चौथ के दिन ही हुआ कुछ ऐसा की छीन गया सुहाग, जानिए ऐसा क्या हुआ....

देहरादून जिले में सड़क हादसे ने देहरादून के एक परिवार को करवा चौथ पर खुशियों की जगह गम दे दिया। चकराता रोड पर यमुना कॉलोनी तिराहे के पास आधी रात बुलेट बाइक सवार एक नेटवर्क इंजीनियर की सड़क हादसे में मौत हो गई। दो वर्ष पहले ही उसकी शादी हुई थी। उसका एक बेटा है और पत्‍नी गर्भवती है। हादसे से पूरा से परिवार बदहवास है। पत्‍नी का रो-रोकर बुरा हाल है। भाई और मां पिता की हालत देखी नहीं जा रही।
पुलिस के अनुसार, सैयद मौहल्‍ला, बिंदाल निवासी संजीव प्रजापति रात साढ़े 12 बजे बाइक पर चकराता रोड से गुजर रहा था। यमुना कालोनी तिराहे के पास उसकी बाइक डिवाइडर से टक्‍करा कर अनियंत्रित हो गई और बाइक सड़क पर रपट गई। उसने हेलमेट पहना था, जो उछलकर दूर जा गिरा और उसका सिर फट गया था। हालांकि, परिजनों का कहना है कि उसे पीछे से किसी दूसरे वाहन ने टक्‍कर मारी होगी। पुलिस इलाके के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। मामले की जांच जारी है। 

रात 12 बजकर 45 मिनट पर हुआ हादसा

कैंट थाना इंजार्ज नदीम अतहर ने बताया कि हादसा रात 12: 45 बजे हुआ कैंट थाना इलाके में बिंदाल नदी के पास सईद कालोनी में रहने वाला संजीव प्रजापति देहरादून ई-नेट सॉल्‍यूशन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में नेटवर्क इंजीनियर था। परिजनों के मुताबिक बुधवार और गुरुवार की रात बुलेट बाइक पर ड्यूटी से लौट रहा था। इसी दौरान चकराता रोड पर दुर्घटना में वह बुरी तरह जख्‍मी हो गया। पुलिस ने उसे दून अस्‍पताल में भर्ती कराया। फिर वहां से सिनर्जी अस्‍पताल के लिए रेफर किया गया। सिनर्जी अस्‍पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

हादसे को लेकर उठा सवाल
हादसा कैसे हुआ, संजीव ने हेलमेट पहने था, फिर उसका सिर कैसे फटा, यह अभी जांच का विषय है। मौके पर डिवाइडर पर बाइक टकराने के निशान होने और हेलमेट दूर मिलने की पुलिस जांच कर रही है। सड़क पर काफी दूर तब बाइक घिसटने के साथ ही खून और मांस के टुकड़े मिले हैं। ऐसे में पुलिस का अंदाजा है कि या तो बाइक स्‍पीड में थी या फिर किसी वाहन की टक्‍कर से अनियंत्रित होक संजीव काफी दूर तक घिसटता रहा होगा। ऐसे में दुर्घटना कैसी हुआ यह जांच का विषय है।

हेलमेट भी छिटक गया

हेलमेट होने के बावजूद दुर्घटना में सिर फटने, कुचलने से मौत की दो दिन में यह दूसरी घटना है। इसमें पहले बुधवार को ही दिन में मसूरी में जेपी बैंड पर नगर निगम के दो डंपरों के बीच में कुचलकर हरियाणा से घूमने आए दो दोस्‍तों सुनील और हंसराज की भी मौत हो गई थी। उन्‍होंने हेलमेट पहना हुआ था। उनका हेलमेट भी दूर पड़ा मिला था। हेलमेट पहने होने के बावजूद सिर फटने से मौत और दोनों ही मामलों में हेलमेट का दूर पड़ा मिलना भी सवाल खड़ा करता है कि कहीं हलेमेट की बनावट या उसका सेफ्टी क्लिप न लगाना तो इन दोनों हादसों की गंभीरता बढ़ाने का कारण तो नहीं।