3 साल चली डॉक्टर सोनम की लव स्टोरी फिर हुई शादी, और फिर डेढ़ साल में ही हो गया कुछ ऐसा...

गुरुग्राम में महिला डॉ. सोनम मोटिस (29) के आत्महत्या मामले में पुलिस जांच में सामने आया कि करीब डेढ़ साल पहले डॉक्टर दंपती ने अपने परिजनों को शादी करने की बात बताई थी। परिजनों की आपसी रजामंदी पर मई 2018 में दोनों ने शादी कर ली। प्रेम विवाह से हुई शादी हालांकि ज्यादा लंबी नहीं टिक पाई और कुछ ही माह बाद दोनों के बीच अनबन के बाद दोनों अलग-अलग रहने लगे थे। इस केस में पुलिस जांच के दौरान कुछ ऐसे खुलासे हुए हैं जिन्हें सुनकर हर कोई हैरान है...
पुलिस इसको आधार पर बनाकर जांच को आगे बढ़ा रही है। इसमें आरोपी पति डॉ. शिखर मोर को नोटिस भेजकर पूछताछ करने की तैयारी की गई है। थाना प्रभारी के मुताबिक पूछताछ के दौरान साक्ष्य के आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी। जानकारी के मुताबिक, करीब तीन साल पहले डॉ. सोनम और डॉ शिखर की जान पहचान हुई थी। दोनों के बीच बातचीत शुरू होने के बाद प्यार परवान चढ़ने लगा। डॉक्टर प्रैक्टिस के दौरान बीते साल इन्होंने अपने अपने परिवार को प्रेम विवाह करने की इच्छा जताई तो दोनों के परिवार ने आपस में बातचीत करने की बात कही। 
इसके बाद आपसी सहमति पर बीते साल मई में दोनों की शादी करा दी गई, उस वक्त महिला डॉक्टर एम्स में प्रैक्टिस करती थी। मृतका के पिता ओंकार लाल का आरोप है कि सोनम को शादी के बाद पता चला कि शिखर गांजे का आदी है। शिखर के दबाव के चलते सोनम ने एम्स में प्रैक्टिस छोड़कर गुरुग्राम का फोर्टिस अस्पताल ज्वाइन कर लिया। लेकिन जब उसने शिखर के नशे की लत की शिकायत उसकी मां और पिता से की तो उन्होंने सोनम के साथ मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया। तभी से वह अपने पिता के साथ रह रही थी। 
जांच अधिकारी के मुताबिक, इस पूरे मामले में मृतक महिला डॉक्टर के पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ। पुलिस मृतका के पिता के बयान के आधार पर डॉक्टर पति शिखर, सास और ससुर से पूछताछ की तैयारी कर रही है। पुलिस का कहना है अगर जांच के दौरान उन पर लगे आरोप सही मिलते हैं, तो उनको गिरफ्तार किया जाएगा। सुशांत लोक थाना प्रभारी निरीक्षक जगबीर सिंह ने बताया कि मृतक डॉ. सोनम मोटिस के परिजनों को भी दोबारा से पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा और उनके आरोपों की जांच होगी।