प्रेमी के चक्कर में महिला ने पति को 50 फीट से नीचे फेंका, और फिर जो हुआ...

प्रेमी के साथ रहने के लिए एक पत्नी ने अपने ही पति की हत्या कर दी। महिला ने प्रेमी के साथ मिलकर साजिश रची और पति को एक निर्माणाधीन मकान से 50 फीट नीचे फेंक दिया। यह मामला पटेल नगर का है। मृतक की पहचान 42 वर्षीय दयाराम के तौर पर हुई है। शख्स को निर्माणाधीन मकान की शाफ्ट में 50 फीट ऊंचाई से नीचे फेंका गया था। पटेल नगर में हुई वारदात को लोकल पुलिस ने स्पेशल स्टाफ की मदद से दो दिन में सुलझा लिया। आरोपी पत्नी अनीता और उसके साथी अर्जुन मंडल को गिरफ्तार कर लिया। 
पुलिस ने दयाराम का मोबाइल फोन, खून से सने चप्पल, कपड़े और दोनों आरोपियों के मोबाइल फोन बरामद कर लिए हैं। डीसीपी एमएस रंधावा के मुताबिक, गुरुवार को ईस्ट पटेल नगर के एक निर्माणाधीन मकान में युवक का खून से लथपथ शव लिफ्ट की शाफ्ट में बरामद हुआ। लोकल पुलिस मौके पर पहुंची। मृतक के पास से एक टिफिन बॉक्स, मफलर और मोबाइल की एक बैटरी बरामद हुई। मकान की छत से शराब की बोतल, गिलास, खाने पीने का सामान मिला। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की।

मृतक के बैग से पुलिस को एक पर्ची बरामद हुई, जिसमें तीन नंबर मिले। एक नंबर पर कॉल कर छेनू नाम के शख्स को साइट पर बुलाकर मृतक की पहचान करवाई गई। मृतक की पहचान आनंद पर्वत निवासी दयाराम के रूप में हुई। दयाराम राजमिस्त्री का काम करते थे और उनकी पत्नी अनीता घरों में काम करती थी। पूछताछ में पत्नी के बयानों पर शक हुआ। अनीता के मोबाइल की सीडीआर निकलवाई। उसके एक नंबर से अनीता की लगातार बातचीत हो रही थी। दूसरी ओर आखिरी बार मृतक की बात भी उसी नंबर से हुई थी। 

इसके अलावा पुलिस ने अनीता और संदिग्ध नंबर की उस शाम दस मिनट की लोकेशन चेक की तो वह एक ही जगह की मिली। अनीता से उस नंबर के बारे में पूछताछ की। उसने कहा कि उसके भाई का नंबर है। पुलिस ने नंबर के मालिक अर्जुन मंडल को बुलाया और उससे पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया। पता चला कि अनीता का अर्जुन मंडल से अवैध संबंध है। आरोप है कि 16 अक्टूबर की शाम को अनीता व अर्जुन ने साइट पर बुलाकर दयाराम की हत्या कर दी। दोनों वहां से अपने-अपने घर पहुंच गए। पुलिस ने अनीता से पूछताछ के बाद आरोपी अर्जुन मंडल को भी गिरफ्तार कर लिया।