अपने काम को अंजाम देने के बाद रात दो बजे लाश को ऐसे लगा दिया ठिकाना, और फिर...

हत्या के आरोप में खडग़वां थाना क्षेत्र के ग्राम छोटे कलवा में रहने वाले सूर्य प्रताप को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पेशे से सूर्य प्रताप हेल्पर है, वह इंडियन ऑयल के गोपालपुर डिपो से पेट्रोल पंपों को इंधन की आपूर्ति करने वाली गाड़ी पर कार्यरत था। आरोपी की गिरफ्तारी सीसीटीवी फुटेज और साइबर सेल की मदद से की गई है। पूछताछ में आरोपी ने बताया है कि 8 नवंबर की रात लगभग 11 बजे नरेश के साथ उसने खाना खाया था। खाना खाने के बाद नरेश से उसकी कहा-सुनी हुई थी। नरेश ने पानी को गिरा दिया था। 
घटना के समय नरेश टैंकर गाड़ी में बैठा हुआ था। पानी गिराने के बाद सूर्य प्रताप आक्रोशित हो गया। उसने व्हील पाना निकालकर नरेश की कनपट्टी पर मार दिया।नरेश को गंभीर चोटें लगी, उसने दम तोड़ दिया। नरेश की मौत हो जाने पर आरोपी सूर्य प्रताप डर गया वह टैंकर को चलाते हुए गोपालपुर-छुरी के रास्ते चोटिया की ओर गया। एक पेट्रोल पंप पर इंधन लेने के बाद गाड़ी को कटघोरा की तरफ मोड़़ दिया। रास्ते में सूर्य प्रताप ने बलौदखार के पास गाड़ी को रोक दिया। नरेश की लाश को उतारकर तालाब में फेंक दिया। लाश पानी से ऊपर उठ जा रही थी। 
इससे बचने के लिए सूर्य प्रताप ने नरेश की लाश पर फायर स्टूगेसर रखकर पानी में दबा दिया। इसके बाद आरोपी फरार हो गया। अगले दिन 9 नवंबर को नरेश की लाश तालाब में मिली। मृतक की पहचान होने के बाद पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया था। इसमें हत्या का खुलासा हुआ था। तब से आरोपी पुलिस को चकमा दे रहा था। पुलिस के पास भी सबूत और गवाह नहीं थे, इस कारण सूर्य प्रताप की गिरफ्तारी नहीं हो रही थी। सबूत पाए जाने पर पुलिस ने सूर्य प्रताप को गिरफ्तार कर लिया है। उस पर नरेश की हत्या और सबूत को नष्ट करने का आरोप है।