आधी रात को लड़की मिलने जाती थी प्रेमी से, और इसका अंजाम जानकर दंग रह जायेंगे आप

क्राइम के बढ़ते हाथ एक-एक करके अब सभी राज्यों को अपने चपेट में ले रहे हैं. कुछ समय पहले हुई राँची की एक घटना ने बवाल खड़ा कर दिया. दरअसल, यह मामला है रांची की अंजली की आत्महत्या का, जिसके आरोपियों ने पुलिस को गुमराह करने में कोई कसर ही नही छोड़ी. अंजली की मौत के पीछे 2-2 कहानियां सामने आ रही जिसके बाद कानून भी स्तब्ध रह गया कि इस मामले को आखिर किस तरह से सुलझाया जा सकता है? पुलिस के सामने एक तरफ अंजली के पिता का बयान है तो दूसरी तरफ आरोपी फरहान के भाई का बयान रखा गया है.
अंजली के पिता ने कहा है कि उनकी बेटी के साथ शारीरिक संबंध और धर्म परिवर्तन की साजिश रची गयी. तो वहीं दूसरी तरफ आरोपी फरहान के भाई का भी कहना है कि अंजली अपने मर्जी से फरहान के घर सिर्फ शारीरिक संबंध बनाने के मकसद से ही आती थी जिसके लिए कई बार लड़के के घरवालों ने मना भी किया. लेकिन, अगर अंजली खुद प्रेमी से मिलने जाती थी तो उसकी मौत की वजह क्या हो सकती है? इन सब सवालों के जवाब जानने के लिए चलिए जानते हैं आखिर पूरी ख़बर क्या है..

धर्म परिवर्तन के लिए भी किया गया मजबूर
अंजली के पिता का नाम यतीन्द्र प्रसाद नाथ है जिन्होंने, पुलिस के पास फरहान के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई है. इनके मुताबिक वह अक्सर अपनी बेटी को सेंट्रल प्रोजेक्ट स्कूल छोड़ने जाया करते थे. लड़की के पिता ने फरहान पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि उसने ही उनकी बेटी को अपने प्यार के जाल में फंसाया और अंजली के साथ शारीरिक संबंध भी बनाये. सिर्फ इतना ही नही लव जिहाद की तरह उसने अंजली को धर्म परिवर्तन के लिए फ़ोर्स किया पर लड़की के नही मानने पर उसे शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया गया. अंत मे जब इन सब बातों का बोझ अंजली सहन नही कर सकी तो, मौत को गले लगा लिया.

आधी रात को भी आती थी घर
पिता के द्वारा फरहान के खिलाफ रिपोर्ट लिखवाने पर पुलिस सीधा फरहान के घर ही पहुंच गयी. वहां पर उन्हें बयान के तौर पर फरहान के भाई ने बताया है कि फरहान गाँव गया हुआ था, तभी उस लड़की के उन्हें हर रोज कॉल भी आते थे. वह अक्सर आधी रात को शारीरिक संबंध बनाने की चाह में हमारे घर पर दस्तक दिया करती थी. 
इसके इलावा उन्होंने पुलिस को बताया कि वह कई बार उसको समझाते थे, लेकिन, अंजली ने उनकी एक नही सुनी. और ऐसे ही वह रोज उनके घर के चक्कर काटटी रहती थी. उन्होंने बताया कि एक दिन तो उसने बर्दाश्त की हद ही पार कर दी, जब उसने फरहान की मेरी माँ को फोन पर बात करने के लिए कहा. फरहान के भाई का कहना है कि उस वक्त अंजली के माता पिता कहाँ थे जो आज उसके भाई पर झूठा इल्जाम लगाया जा रहा है?
उधर फरहान का भी कहना है कि वह बिल्कुल निर्दोष है. उसने इस बात की सफाई देते हुए कहा कि “मैं घटना होने से पहले ही अपने परिवार के साथ गांव में शिफ्ट हो गया था”. अब यह घटना एक रहस्य की तरह बन चुकी है. सब इस बात से हैरान हैं कि आखिर अंजली की खुदखुशी की असली वजह क्या रही होगी. बहरहाल, पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरू कलर दी है और जल्द से अंजली के घरवालों को अंजली की मौत का सच पता चल जायेगा.