10 वर्षों से नौकरी के लिए भटक रहा है हवलदार का बेटा, नहीं मिल रहा उसे इंसाफ....

तरस के आधार पर पिछले 10 वर्षों से नौकरी के लिए फरियाद कर रहा है स्वर्गीय पंजाब पुलिस के एक हवलदार का पुत्र जिसे अभी तक इंसाफ नहीं मिला है। जानकारी अनुसार स्थानीय वार्ड न: 2 के निवासी वरिन्द्रजीत सिंह पुत्र स्वर्गीय र्स्वण सिह ने बताया कि मेरे पिता पंजाब पुलिस संगरूर में बतौर हवलदार तैनात थे पर अचानक उनकी मृत्यु 2009 में हो गई थी और मेरी माता की मृत्यु 1992 की हुई है। दोनों की मौत के बाद वरिन्द्रजीत सिंह अनाथ हो गया है। 
वरिन्द्रजीत सिंह ने यह भी बताया कि मैं अपने पिता का वारिस होने के नाते पिछले 10 सालों से पंजाब के मुख्यमंत्री तथा डी.जी.पी. पंजाब पुलिस को लिखती तौर पर निवेदन किया है पर मेरी कोई सुनवाई नहीं हुई। वरिन्द्रजीत सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री तथा डी.जी.पी. पंजाब पुलिस को फरियाद की है उसे तरस के आधार पर पंजाब पुलिस में नौकरी दी जाए।