यहां एक छात्र के सुसाइड मामले में चौंकाने वाला मोड़ आया है। वधवाराम कॉलोनी में रहने वाले 17 वर्षीय अजय ने लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुद को शूट कर लिया था। रिवॉल्वर मृतक के पिता की है। वे एक कॉलेज के प्रिंसिपल के सिक्योरिटी गार्ड हैं। अजय के परिजनों ने पुलिस को दिए बयान में उसकी फिजिक्स की टीचर पर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। परिजनों का कहना है कि उनका बेटा टीचर के प्रेम में फंसा हुआ था। टीचर उस पर शादी का दबाव डाल रही थी।
इससे घबराकर उसने खुद को शूट कर लिया। हालांकि इसमें कितना सच है और कितना झूठ, अभी इसका खुलासा नहीं हो सका है। बताते हैं कि अजय अपने भाई से यह कहकर पिता की रिवाल्वर उठाकर ले गया था कि टीचर अपने मंगेतर को रास्ते से हटवाना चाहती हैं। लेकिन कुछ देर बाद खबर मिली कि अजय ने खुद का गोली मार ली। मृतक के पिता सज्जन सिंह ने पुलिस को बताया कि अजय उनका इकलौता बेटा था। वो एसडी मॉर्डन स्कूल में पढ़ता था। इसी स्कूल में 27 वर्षीय टीचर फिजिक्स पढ़ाती थी। बुधवार शाम करीब 5.30 बजे अजय ट्यूशन से घर लौटा था। 
इसके बाद वो अलमारी में रखी लाइसेंसी रिवॉल्वर उठाकर घर से निकल गया था। कुछ देर बाद अजय अपने चचेरे भाई को मोबाइल पर बताया था कि वो घर से रिवॉल्वर उठाकर ले गया है। उसकी टीचर अपने मंगेतर की हत्या कराना चाहती है। कुछ देर बाद अजय की मौत की खबर मिली। थाना प्रभारी अतर सिंह ने बताया कि परिजनों ने टीचर सहित उसके परिजनों के खिलाफ केस दर्ज कराया है। हालांकि पुलिस उसके भाइयों की कॉल डिटेल्स भी खंगाल रही है।

15 दिनों से परेशान था
अजय के दोस्तों के मुताबिक, वो पिछले 15 दिनों से किसी बात को लेकर परेशान था। पूछने पर बताता था कि पढ़ाई का प्रेशर है। 16 दिसंबर से उसके एग्जाम थे। दोस्तों के मुताबिक, अजय अपनी टीचर से वॉट्सऐप पर खूब बात करता था। उधर, स्कूल की प्रिंसिपल ने बताया कि टीचर ने 5 दिसंबर को नौकरी छोड़ दी थी। बताया गया कि 16 फरवरी को उसकी शादी है।