नागौर जिले की कोतवाली पुलिस ने हत्या की वारदात का पर्दाफाश कर महिला समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार के लिया है। पति की हत्या का बदला लेने के लिए पत्नी ने हरियाणा के गैंगस्टर संदीप विश्नोई को 30 लाख की सुपारी देकर इस वारदात को अंजाम दिया था। नागौर एसपी डॉ विकास पाठक ने बताया कि हत्या के आरोप में विजय राजपूत एवं कृष्ण उर्फ गोपाल जाट निवासी धुनदा जिला महेन्द्रगढ हरियाणा व सरोज पत्नी रघुवीर सिंह माली निवासी राठौडी कुआं नागौर को गिरफ्तार किया है। 
29 नवम्बर को राठौडी कुआं नागौर निवासी श्री दिनेश व उसके चचेरे भाई नरेंद्र की कार को डीटीओ ऑफिस के पास गलत साईड से आये ट्रक ने टक्कर मार दी थी जिससे नरेन्द्र की मौत हो गई और दिनेश गम्भीर रूप से घायल हो गया। निम्स हॉस्पिटल में इलाज के दौरान दिनेश ने अजय सिंह, नरेंद्र सिंह व उनके साथियों पर जान बूझकर टक्कर मार भाई की हत्या की रिपोर्ट दी गई। इस पर पुलिस ने नामजद आरोपियों के विरुद्ध प्रकरण दर्ज कर मौके से ट्रक को जप्त किया गया। 

पुलिस ने टोल नाका एवं घटना स्थल के आस पास लगे सीसीटीवी फुटेज प्राप्त कर ट्रक चालक की पहचान कर मुलजिम विजय राजपूत एवं कृष्ण उर्फ गोपाल जाट निवासी धुनदा जिला महेन्द्रगढ हरियाणा को बस स्टेण्ड नागौर से दस्तयाब किया। पूछताछ में आरोपी विजय ने बताया कि हरियाणा के गैंगस्टर संदीप विश्नोई ने दिनेश की हत्या के लिए उन्हें 5 लाख रुपए और ट्रक देकर भेजा था। नागौर में दीपक व एक महिला सरोज ने बीस हजार रुपए व मोबाइल फोन देकर दिनेश के हर मूवमेंट की जानकारी दी। सरोज माली निवासी राठौडी कुआं नागौर को बुलाकर पूछताछ की गई तो सरोज ने बताया कि दिनेश सांखला मेरे पति का दोस्त था। 

बाद में आपस में रंजिश हो जाने पर दिनेश ने मेरे पति की हत्या कर दी थी। पति की हत्या का बदला लेने के लिए उसने पति के दोस्त संदीप विश्नोई को 30 लाख की सुपारी हवाला के जरिए दी थी। दिनेश के पैरोल से बाहर आने का इंतजार करने लगी हत्या में शामिल तीनो आरोपियों को गिरफ्तार कर शेष अभियुक्तों की तलाश व अनुसंधान जारी है। मामले की गंभीरता को देखते हुऐ एसपी नागौर डॉ विकास पाठक ने एएसपी नागौर रामकुमार कस्वां एवं सीओ नागौर तेजपाल सिंह के निर्देशन मे थानाधिकारी अमराराम खोखर के नेतृत्व में कोतवाली थाने की टीम का गठन किया।