ACB भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने रविवार को Bribe case रिश्वत लेते घासा थाने के constable arrested कांस्टेबल व एक दलाल को गिरफ्तार किया। कांस्टेबल ने यह राशि चेक अनादरण के मामले में आरोपी को वारंट तामिल करवाकर कोर्ट में पेश करने के एवज में ली थी। एएसपी सुधीर जोशी ने बताया कि चित्तौडगढ़़ जिले के भूपालसागर तहसील के जोडिय़ा जी बावजी निवासी विनोद वैष्णव पुत्र बद्रीदास वैष्णव ने किसी के विरुद्ध चेक अनादरण का मामला दर्ज करवाया था। 
आरोपी के विरुद्ध न्यायालय से वारंट जारी होने के बावजूद पुलिस उसे तामिल नहीं करवा रही थी। परिवादी ने मामले की जांच कर रहे घासा थाने के कांस्टेबल मनोज कुमार से सम्पर्क किया तो उसने एक हजार रुपए ले लिए। इसके बावजूद वारंट तामिल नहीं होने पर परिवादी से फिर सम्पर्क किया तो कांस्टेबल मनोज ने पांच हजार की मांग की। 

एक हजार रुपए पूर्व में देने की बात कहने पर उसने चार हजार रुपए देने के लिए कहा। बार-बार तकाजा करने पर परिवादी ने इसकी शिकायत एसीबी को कर दी। सत्यापन पुष्टि के दौरान आरोपी मनोज ने यह राशि गांव में ही किराणा के दुकानदार करण को देने को कहा। परिवादी ने यह राशि उसे दी तभी एसीबी टीम ने दोनों को धर दबोचा।