गुजरात में जामनगर के पास लालपुर क्षेत्र में एक वारदात से तहलका मच गया। घर पर अकेली एक लड़की ने प्रेमी को मिलने बुलाया था। प्रेमी उसके घर गया। दोनों एक-दूजे में मशगूल थे कि तभी कहीं से लड़की का भाई घर आ गया। अपनी बहन को किसी लड़के के साथ देखकर उसे गुस्सा आ गया। बहन भी घबरा गई। फिर, दोनों भाई-बहन ने प्रेमी को वहीं मार डाला। इस घटना की जानकारी बाद में पुलिस को हुई। पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू कर दी। पुलिस ने एक रस्सी बरामद की, बाद में उस लड़की को पकड़कर पूछताछ की। सख्ती से हुई पूछताछ में लड़की ने वारदात का खुलासा कर दिया।
पुलिस के मुताबिक, प्रेमी को रस्सी से गला दबाकर मारा गया था। वह रस्सी पुलिस के हाथ लग चुकी है। साथ ही उस प्रेमी को अपने भाई के साथ मिलकर मार डालने वाली लड़की भी पकड़ ली गई है। बदनामी से बचने और खुद को सही साबित करने के लिए ही लड़की ने उस लड़के की हत्या करा दी। जब अपने घर पर वह प्रेमी को बुलाकर मिल रही थी, तभी कुछ देर बाद भाई को देख वह घबरा गई थी। खुद को बचाने के लिए उसने भाई को कहा कि यह लड़का मुझे बहुत परेशान करता है। यह मेरे पीछे पड़ा हुआ है। यह मुझे तंग करने के लिए घर आया है।'
बहन की ये बातें सुनकर भाई को गुस्सा आ गया और वह प्रेमी को पीटने लगा। उसको रोकने के बजाय लड़की खुद भी प्रेमी को मारने लगी। दोनों ने प्रेमी का गला दबाया और उसे मार डाला। मृतक प्रेमी का नाम अशोक था। अशोक के पिता ने ही पुलिस से शिकायत की थी। जिसके बाद पुलिस ने पता किया था कि अशोक किस लड़की से मिलता था। पुलिस उसी लड़की के घर पहुंच गई, जहां अशोक की हत्या हुई थी।
पुलिस द्वारा की गई सख्त पूछताछ में लड़की ने अशोक के साथ प्रेम-संबंध होना स्वीकार किया। उसने कुबूला कि उसने ही अशोक को घर बुला लिया था। वह उस वक्त घर पर अकेली थी। मगर, अशोक के पहुंचने से पहले ही उसका भाई आ गया था। भाई ने अशोक को अपने घर पर देखा तो वह गुस्सा हो गया। इस पर लड़की ने अपने भाई को कहा कि वह उस लड़के को नहीं जानती। वह लड़का उसे परेशान करता था और छेड़ता है। जिसके बाद भाई-बहन दोनों अशोक पर टूट पड़े और उसकी जान ले ली।'