मध्य प्रदेश के शाजापुर में हुई चोरी की एक घटना काफी सुर्खियां बटोर रही है. बताया जा रहा है कि इस चोरी की घटना में चोरों के हाथ कुछ नहीं लगा. खाली हाथ वापस लौटने से पहले घटना को अंजाम देने वाले चोर ने घर के मालिक को चिट्ठी लिख कर अपना दुख जाहिर किया. आपको बता दें कि शहर के पुलिस लाइन रोड पर स्थित आरईएस विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर प्रवेश सोनी के बंगले पर पीछे की तरफ से रात में चोर खिड़की दरवाजे तोड़कर अंदर घुसे. 

इस दौरान खासी मशक्कत के बाद भी चोरों को यहां से कोई बड़ी नकदी या जेवरात नहीं मिल पाए. दरअसल, घटना शहर के पुलिस लाइन रोड पर स्थित आरईएस विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर प्रवेश सोनी के बंगले की है. जहां चोरों के हाथ कुछ नहीं लगा. इससे परेशान होकर चोर ने टेबल पर रखी एक छोटी सी सरकारी डायरी में अपना दर्द लिख दिया. चोर ने लिखा है कि बहुत कंजूस है रे तू. खिड़की तोड़ने की मेहनत भी नहीं निकली. रात बर्बाद हो गई यार. चोर ने ये लिखकर चोरी में कोई बड़ा सामान हाथ न लगने से अपनी निराशा जाहिर की. सुबह मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने अपने स्तर पर जांच शुरू की है. 

हालांकि, जिस अधिकारी का यह बंगला है, फिलहाल वह शाजापुर में मौजूद नहीं हैं. जिसके चलते बहुत ज्यादा डिटेल इसमें नहीं मिल पाई हैं. वहीं, अब कोतवाली पुलिस इसी को आधार बनाकर चोर की तलाश में जुटी है. खास बात यह है कि चोरों ने जिस बंगले पर वारदात को अंजाम देने की कोशिश की. उसके बगल में ही कई न्यायाधीशों और सरकारी अधिकारियों के बंगले हैं और पुलिस लाइन और होमगार्ड लाइन भी महज चंद कदमों की दूरी पर है. ऐसे में इस वीआईपी जोन में चोरों की आमद पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई बरहराल चोर की चिट्ठी खासी सुर्खियों में है.