घर में आनी थी दुल्हन, लेकिन घर से उठा दूल्हे का जनाजा, अंतिम यात्रा में उमड़ गई भीड़, हर आंखें हुई नम

बिजनौर जनपद के नगीना क्षेत्र में निकाह से चंद घंटे पहले करंट की चपेट में आकर मरने वाले दूल्हे अब्दुल्ला को सोमवार को सुपुर्द ए खाक कर दिया गया। घर में जिस दिन दुल्हन आनी थी, उसी दिन दूल्हे का जनाजा उठा तो लोगों की आंखें नम हो गईं। उसके जनाजे में भारी भीड़ मौजूद रही। रविवार रात मोहल्ला काजी सराय में आरा मशीन कारोबारी इतफाल अहमद के बेटे अब्दुल्ला का निकाह था। 
अब्दुल्ला तैयार होने से पहले बाथरूम में नहाने गया था। वहां करंट लगने से उसकी मौत हो गई। अब्दुल्ला की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। मोहल्ले में भी मातम पसर गया। सोमवार सुबह अब्दुल्ला की अंतिम यात्रा उनके मोहल्ला काजी सराय स्थित आवास से शुरू हुई तो परिजनों और शुभचिंतकों के अलावा अंतिम यात्रा में मौजूद लोगों की आंखें नम हो गईं। अब्दुल्ला के पिता, मां और बहनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। 
Loading...