कासिमपुर थाना क्षेत्र में पिकअप चालक की पीट-पीटकर हत्या कर शव नहर में फेंक दिया गया। वह दूध फैक्ट्री की पिकअप चलाता था, शनिवार शाम दूध लेने के लिए ही घर से निकला था, लेकिन फिर लौटकर नहीं आया। देर रात दूध कलेक्शन सेंटर वाले गांव के बाहर पिकअप डाला खड़ा मिला। कुछ दूरी पर शव भी पड़ा था। हत्या के पीछे प्रेम प्रसंग की बात सामने आई है।
कछौना कोतवाली के बघुआमऊ मजरा दुलार खेड़ा निवासी सलमान (25) संडीला औद्यौगिक क्षेत्र में संचालित दूध डेयरी का पिकअप चलाता था। वह प्रतिदिन पिकअप से कासिमपुर थाना के सेंधवल सहित आसपास के गांव में दूध के कलेक्शन सेंटर से दूध लेने जाता था। शनिवार शाम वह घर से निकला था। रात दस बजे तक वह फैक्ट्री नहीं पहुंचा तो फैक्ट्री के मालिक की ओर से घर पर सूचना दी गई। 
जिस पर परिवार के लोग उसे खोजने निकले और रज्जाकखेड़ा कलेक्शन सेंटर गए तो उसका पिकअप डाला रज्जाक खेड़ा के पास खड़ा मिला। वहीं पर खून की बूंदें पड़ी हुई थीं। इस पर उन लोगों ने उसकी तलाश की तो उसका शव सौ मीटर की दूरी पर सूखे नाले में पड़ा मिला। चेहरा और शरीर पर चोटों के निशान थे। मृतक के भाई असलम ने बताया कि उसके भाई का रज्जाक खेड़ा निवासी एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। 
उसी के परिवार के लोगों ने उसके भाई की हत्या कर दी। कासिमपुर थानाध्यक्ष ब्रजेश सिंह और सीओ संडीला अमित कुमार श्रीवास्तव व अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी ज्ञानंजय सिंह मौके पर पहुंचे और मामले के विषय में जानकारी ली। थानाध्यक्ष ने बताया कि असलम की तहरीर पर रज्जाक खेड़ा निवासी चार लोगों के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज किया गया है। घटना के पीछे प्रेम प्रसंग का मामला प्रकाश में आया है। जांच की जा रही है।