कैदी का जेल प्रंबधकों पर आरोप ‘मुझे नशा बेचने के लिए किया जा रहा है मजबूर’

रूपनगर जिला जेल संबंधी आज एक और वीडियो वायरल होने से जेल प्रबंधकों में हड़कंप मच गया। इसके बाद आनन-फानन में संबंधित व्यक्ति के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए मामला दर्ज करवा दिया है। वीडियो में जिला जेल के कैदी मनोज कुमार मामू ने जेल प्रबंधकों पर आरोप लगाया कि उसे नशा और अन्य सामान बेचने के लिए जेल प्रबंधक मजबूर कर रहे हैं। इसके बदले वह उससे लाखों रुपए की मांग भी कर रहे हैं। इस पर जब उसने ऐसा नहीं किया तो जेल के एक कर्मचारी ने उसके सामान को आग लगा दी और उसे प्रताडि़त करना शुरू कर दिया।
इस संबंधी मनोज कुमार मामू ने जिला प्रशासन से अपील की कि जेल के भ्रष्ट अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। गौरतलब है कि लगभग एक माह पहले भी एक कैदी जो जिला जेल रूपनगर से एक महीने की प्रोबेशन पर गया था, ने भी एक वीडियो वायरल कर जेल प्रबंधकों पर धक्केशाही करने, नशों और मोबाइलों की बिक्री करने के आरोप लगाए थे। जेल सुपरिंटैंडैंट थिंद ने कहा कि मैंने लगभग 17-18 दिन पहले जिला जेल का चार्ज संभाला है। इसके बाद नशा और मोबाइलों पर पूरी सख्ती की है। 

उक्त दिनों में ही आज तक लगभग 38 मामले मोबाइल व नशे के विभिन्न व्यक्तियों के विरुद्ध दर्ज करवाए हैं। चार्ज लेने से पहले जिला जेल के हालात कुछ और थे लेकिन अब सख्ती के कारण सभी शरारती तत्व बौखला चुके हैं जिस कारण वे जेल प्रबंधकों पर झूठे आरोप लगा रहे हैं। जिस मोबाइल से उक्त आरोपी ने वीडियो बनाई थी उसकी तलाशी लेने पर उसने अपना मोबाइल जलती भट्टी में गिरा दिया था जिसे बरामद करने के बाद मोबाइल को पुलिस को हवाले कर दिया गया। मामले संबंधी शिकायत दे दी गई है। मनोज कुमार मामू विभिन्न जेलों में रह चुका है और उस पर पहले भी 7-8 मामले एन.डी.पी.एस. एक्ट तहत दर्ज हैं।