किराए के घर में छिपा रखी थी लाखों की प्रतिबंधित दवा, पुलिस ने चार आरोपियों को दबोचा

जेवरा पुलिस ने गुरुवार को प्रतिबंधित दावा के अवैध कारोबारा का भंडाफोड़ किया है। प्रतिबंधित दवा बेचने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने किराए के घर में लगभग 9 लाख रुपए की प्रतिबंधित दवा छिपाकर रखा था। सूचना के बाद जेवरा पुलिस ने छापा मारकर दवाओं का बड़ा खेप जब्त किया है। सीएसपी विवेक शुक्ला ने बताया कि चारों आरोपी दिल्ली से दवा मंगवाकर यहां बेचते थे।

बड़े कारोबार का अनुमान 
पुलिस ने बताया कि आरोपी भिलाई जुनवानी निवासी मनोज कुमार, अमृत देवगन कायस्त, सुमित भोई व अमन प्रीत सिंह दिल्ली से लंबे समय से प्रतिबंधित दवा मंगाकर दुर्ग जिले में खफा रहे थे। आरोपियों के तार किसी बड़े नेटवर्कं से जुड़े होने की आशंका जताई जा रही है। दुर्ग के अलावा बालोद, बेमेतरा और अन्य पड़ोसी जिले में भी आरोपी प्रतिबंधित दवा खपाते थे। 

नए साल के जश्न में हुआ विवाद
भिलाई में नए साल के जश्न में विवाद कर तीन बदमाशों ने चाकू से हमला कर दिया। पीडि़त जिसान खान के मुंह और पीठ में चोट आई। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 307 के तहत अपराध दर्ज किया। न्यायिक रिमांड पर तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया। जामुल टीआई लक्ष्मण कुमेटी ने बताया कि सेक्टर-3, सड़क-10 निवासी जिसान खान न्यू ईयर सेलिब्रेट करने हाउसिंग बोर्ड गया था। जहां फौजी नगर निवासी आरोपी तिरुपति बालाजी नायकर उर्फ बाबी, प्रवीण सिंह और नवीन सिंह उर्फ रिंकू मौजूद थे। कार्यक्रम के बीच जिसान को धक्का दे दिया। जब उसने विरोध किया तो उसके साथ गाली गलौज किया। चाकू और बेल्ट से उस पर हमला कर दिया। जिससे उसे गंभीर चोट आई है।