हुसैनाबाद थाना क्षेत्र के कठौंधा गांव में एक पुत्र ने अपनी 55 वर्षीया माता सरोज देवी को कुदाल से काटकर हत्या कर दी। सरोज देवी काफी निर्धन परिवार से आती हैं। सरोज देवी के पति योगेंद्र पाठक अपने छोटे पुत्र के साथ दिल्ली में रहकर मजदूरी का काम करते हैं। घर में केवल मां सरोज देवी व उनका बड़ा पुत्र 30 वर्षीय वेद प्रकाश पाठक रहते थे। मां शिक्षित होने के कारण यजमानों के यहां शादी व अनुष्ठान कराकर अपना भरण पोषण करती थी। 
वेद प्रकाश ने अपने मां के चेहरे पर पहले कुदाली से चार बार वार कर पूरा चेहरा बिगाड़ दिया। इसके बाद माथे पर पीछे से वार कर उन्हें मौत की नींद सुला दिया। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार वेद प्रकाश का मानसिक संतुलन सही नहीं है। सरोज देवी काफी निर्धन होने के कारण अपने पुत्र का इलाज भी नहीं करा सकती थी। वह पूजा पाठ कराकर किसी तरह अपना व अपने पुत्र का भरण पोषण करती थी। घटना की सूचना मिलने के बाद ग्रामीणों ने आनन-फानन में सरोज देवी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। 

जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। चिकित्सकों ने बताया कि सर व चेहरे पर गंभीर चोट होने के कारण ब्लड के रिसाव से उनकी मौत हो गई। इसकी सूचना तत्काल हुसैनाबाद थाना को दी गई। थाना पुलिस त्वरित कार्रवाई करते हुए हत्यारा पुत्र वेद प्रकाश को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है। पुलिस ने शव का अंत्यपरीक्षण के बाद ग्रामीणों को सौंप दिया। उनका दाह संस्कार गांव के ही श्मशान घाट पर किया गया। घटना की सूचना ग्रामीणों ने उनके पति योगेंद्र पाठक को दे दी है। 
Loading...