मौसेरी बहन से संबंध का विरोध करना पत्नी को इतना महंगा पड़ गया कि पति ने पहले पहले गला दबाकर हत्‍या की कोशिश और फिर धारदार हथियार से वार कर घायल कर दिया। पुलिस ने पीडि़ता की तहरीर पर पति समेत उसके सगे एवं मौसेरे भाई व मौसेरी बहन के खिलाफ हत्या के प्रयास आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। शादी के बाद से दहेज के लिए भी करता था प्रताडि़त। उत्तर प्रदेश थाना डिलारी जिला मुरादाबाद निवासी समीना पुत्री शमीम का निकाह वर्ष 2017 में राशिद पुत्र बल्लन निवासी छीपरी थाना शेरकोट जिला बिजनौर के साथ हुआ था। 
आरोप है कि निकाह के कुछ दिन बाद से कम दहेज लाने का ताना देकर ससुराल पक्ष के लोग एक बुलेट मोटरसाईकिल तथा नकद एक लाख रुपये की मांग कर रहे थे। मांग पूरी न होने पर वह उसे प्रताडि़त करते थे। इस बीच उसका पति उससे झूठ बोलकर सउदी अरब चला गया। नौ माह बाद जब वह वहां से वापस आया तो फिर से दहेज के लिए उसे तंग करने लगा। इस दौरान उसे पता चला कि उसका पति अपनी मौसेरी बहन से संबंध रखता है। इसका उसने विरोध किया तो उसे मारपीट करने लगा। पति का मौसेरा और सगा भाई भी रखते हैं बुरी नियति। परिजनों के समझाने के बाद दोनों जसपुर स्थित मोहल्ला नई बस्ती में रहने लगे। आरोप है कि उसके बाद भी पति ने अपनी मौसेरी बहन से मिलना नहीं छोड़ा। 
इस पर बीते दिन उसने अपने पति को मना किया तो उसने मारपीट की और जान से मारने की नियत से अपने हाथ से उसका गला दबा दिया। किसी तरह से उसके चंगुल से निकली तो उसने फिर से धारदार हथियार से वार कर दिया। इससे वह घायल हो गई। चीखपुकार सुनकर आए मोहल्ले वालों को देखकर पति फरार हो गया। विवाहिता का आरोप है कि उसके पति का मौसेरा एवं सगा भाई भी उस पर बुरी नियत रखता था। कोतवाल उमेद सिंह दानू ने बताया कि पीडि़ता की तहरीर पर पति राशिद व उसके सगे भाई मो.अकील एवं मौसेरे भाई सुलेमान तथा मौसेरी बहन अफसाना पर आइपीसी की धारा 307 दहेज अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।