गोल्डन कार्ड बनाने के लिए लग रही है लाइन, जानें क्या है गोल्डन कार्ड

लक्सर सीएचसी में गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए आवेदकों की भीड़ लग रही है। इस कार्ड से प्रदेश के चुनिंदा बड़े अस्पतालों में उपभोक्ता को हर साल पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलेगा। रोज पचास से सौ लोग इस कार्ड के लिए आवेदन कर रहे हैं। केंद्र सरकार ने हर परिवार को निशुल्क इलाज की सुविधा देने के लिए पिछले वर्ष अटल आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड योजना शुरू की थी। 
इसके तहत दिए जा रहे गोल्डन कार्ड से उपभोक्ता प्रदेश के चुनिंदा बड़े अस्पतालों में पांच लाख रुपये तक का इलाज हर साल मुफ्त करा सकते हैं। पिछले साल गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए सरकार ने राशन कार्ड अनिवार्य कर रखा था। जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं था, उनके गोल्डन कार्ड नहीं बन पाए थे। दिसंबर में सरकार ने इसकी नीति में बदलाव कर आधार कार्ड से गोल्डन कार्ड बनाने का काम शुरू किया था। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कॉमन सर्विस सेंटर की टीम आधार कार्ड बना रही है। 

सेंटर के प्रभारी आशीष शर्मा ने बताया कि सीएचसी पर दिसंबर के पहले हफ्ते से गोल्डन कार्ड बनाने का काम चल रहा है। बीच में सर्वर डाउन होने या इंटरनेट नहीं चलने की वजह से थोड़ी दिक्कत आई है। फिर भी रोज 50 से 100 लोग गोल्डन कार्ड के लिए आवेदन कर रहे हैं। सीएचसी अधीक्षक डॉ. अनिल वर्मा ने बताया कि गोल्डन कार्ड बनाने के लिए आवेदन करना जरूरी है।