अमृतसर के जी.टी. रोड पर स्थित भगवान वाल्मीकि जी की मूर्ति के ठीक सामने युवक को मार डालने की नीयत से उस पर सीधी गोलियां दागने के आरोप में थाना कैंटोनमैंट की पुलिस ने नामजद किए गए शुभन निवासी ग्वाल मंडी, अमनदीप सिंह गोली निवासी पुतलीघर, संदीप कुमार उर्फ करन निवासी ग्वाल मंडी, शुभम भंडारी निवासी ग्वाल मंडी व अली कुमार निवासी राम तीर्थ रोड को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों के कब्जे से दो देसी कट्टे व लोहे की राड बरामद की गई। यह खुलासा आज ए.सी.पी. देवदत्त व थाना कैंटोनमैंट के इंचार्ज ने एक पत्रकार सम्मेलन के दौरान किया।

जानिए क्या था पूरा मामला
5 दिसम्बर को थाना कैंटोनमैंट की पुलिस ने अमित कुमार के पिता नरेन्द्र कुमार की शिकायत पर उक्त आरोपियों के विरुद्ध हत्या प्रयास व आर्म्ज एक्ट के अधीन केस दर्ज किया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि उनका लड़का रात का खाना खाकर घर से बाहर गया था। रात्रि 11:30 बजे उसे सूचना मिली कि भगवान वाल्मीकि मूर्ति के सामने आरोपियों ने उसके बेटे अमित कुमार पर गोलियां चला उसे घायल कर दिया है। पूरी वारदात उक्त आरोपी शुभम भंडारी के पिता शुभन द्वारा करवाई गई है। 

जिसके बाद पुलिस ने पर्चा दर्ज कर छापामारी शुरू की और मामला दर्ज करने के कुछ देर बाद शुभन को गिरफ्तार कर लिया। जिसके अगले दिन अमनदीप सिंह गोली भी गिरफ्तार हो गया। मगर उक्त तीनों मुख्य आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर चल रहे थे। जिसके बाद 24 दिसम्बर को आरोप संदीप कुमार उर्फ करन भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया जिसे रिमांड पर लिया गया और उससे हुई पूछताछ में आज बचे हुए दोनों आरोपी शुभम भंडारी व अली कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया। अब तीनों आरोपियों को रिमांड पर लिया जाएगा और इनसे गहण पूछताछ की जाएगी।